एडवांस्ड सर्च

Advertisement

सहवाग के बल्ले ने उगले रिकार्ड ही रिकार्ड

वीरेंद्र सहवाग के बल्ले ने ब्रेबोर्न स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ रनों की बौछार ही नहीं की बल्कि अपनी 293 रन की पारी के दौरान कई रिकार्ड भी बनाये जिनमें टेस्ट क्रिकेट में भारत की तरफ से सर्वाधिक छह दोहरे शतक लगाना भी शामिल है.
सहवाग के बल्ले ने उगले रिकार्ड ही रिकार्ड वीरेंद्र सहवाग
भाषामुंबई, 04 December 2009

वीरेंद्र सहवाग के बल्ले ने ब्रेबोर्न स्टेडियम में श्रीलंका के खिलाफ रनों की बौछार ही नहीं की बल्कि अपनी 293 रन की पारी के दौरान कई रिकार्ड भी बनाये जिनमें टेस्ट क्रिकेट में भारत की तरफ से सर्वाधिक छह दोहरे शतक लगाना भी शामिल है.

सहवाग 7 रन से तीन तिहरे शतक बनाने से चूक गए. अब तक आस्ट्रेलिया के डान ब्रैडमैन, वेस्टइंडीज के ब्रायन लारा और सहवाग के नाम पर दो- दो तिहरे शतक का संयुक्त रिकार्ड है.

सहवाग जब क्रीज पर उतरे तो उन्होंने 45वां रन पूरा करते ही टेस्ट क्रिकेट में 6,000 रन पूरे किये. इस मुकाम पर पहुंचने वाले वह दुनिया के 50वें और भारत के नौवें बल्लेबाज बने. उन्होंने 123वीं पारी में यह मुकाम हासिल किया और इस तरह से भारत की तरफ से सबसे कम पारियों में इस रन संख्या पर पहुंचने वाले तीसरे बल्लेबाज बने.

इसके बाद उन्होंने भारतीय सरजमीं पर भी 3000 रन पूरे किये. वह गुंडप्पा विश्वनाथ के 6,080 रन और फिर मोहम्मद अजहरूद्दीन के 6,215 रन की संख्या को पीछे छोड़कर भारत की तरफ से सर्वाधिक टेस्ट रन बनाने वाले बल्लेबाजों की सूची में सातवें स्थान पर काबिज हुए.

दिल्ली के इस तूफानी बल्लेबाज ने इस बीच अपना छठा दोहरा शतक पूरा किया और अपने साथ दूसरे छोर पर खड़े राहुल द्रविड़ (पांच दोहरे शतक) को पीछे छोड़ा. उन्होंने केवल 168 गेंद पर दोहरा शतक पूरा किया जो भारतीय रिकार्ड है. यह टेस्ट क्रिकेट में दूसरा सबसे तेज दोहरा शतक है. रिकार्ड न्यूजीलैंड के नाथन एस्टल (153 गेंद) के नाम पर है. अब सबसे तेज चार दोहरे शतकों में से तीन सहवाग के नाम पर दर्ज हैं. सहवाग जब 224 रन पर पहुंचे तो यह ब्रेबोर्न स्टेडियम पर सर्वाधिक व्यक्तिगत पारी थी. इससे पहले का रिकार्ड वीनू मांकड़ (223) के नाम पर था. यहीं नहीं उन्होंने मुंबई में किसी भारतीय बल्लेबाज के सर्वाधिक का रिकार्ड अपने नाम किया जो अब तक विनोद कांबली (224) के नाम पर दर्ज था. इसके कुछ देर बाद उन्होंने इस शहर में क्लाइव लायड (242) के सर्वाधिक स्कोर का वषरें पुराना रिकार्ड भी तोड़ दिया.

सहवाग का अगर तिहरा शतक पूरा कर लेते तो ब्रैडमैन के बाद यह कारनामा करने वाले दुनिया के दूसरे बल्लेबाज बन जाते. ब्रैडमैन ने 1930 में इंग्लैंड के खिलाफ लीड्स में 309 रन बनाये थे. सहवाग इस सूची में अब ब्रैडमैन और इंग्लैंड के डेनिस काम्पटन (295 रन) के बाद तीसरे नंबर पर काबिज हो गये हैं. इससे पहले सहवाग ने पिछले साल दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ अपनी 319 रन की पारी के दौरान एक दिन में 257 रन बनाये थे.

भारत की तरफ से छह हजार से अधिक रन बनाने वाले बल्लेबाजों में सचिन तेंदुलकर (12,917 रन), राहुल द्रविड़ (11,244), सुनील गावस्कर (10,122), सौरव गांगुली (7,212), दिलीप वेंगसरकर (6,868), वीवीएस लक्ष्मण (6,855), वीरेंद्र सहवाग (6,239), मोहम्मद अजहरूद्दीन (6,215) और गुंडप्पा विश्वनाथ (6,080) शामिल हैं. जहां तक दोहरे शतकों की बात है तो टेस्ट क्रिकेट में सर्वाधिक 12 दोहरे शतक ब्रैडमैन ने लगाये हैं. उनके बाद ब्रायन लारा (नौ) और वाली हैमंड (सात)  का नंबर आता है. सहवाग अब श्रीलंका के कुमार संगकारा, मर्वन अटापट्टू और महेला जयवर्धने तथा पाकिस्तान के जावेद मियादाद के साथ संयुक्त रूप से चौथे स्थान पर हैं.

सहवाग ने मुल्तान में जो 309 रन की पारी खेली थी तब उन्होंने पहली बार 200 रन की संख्या भी पार की थी। इसके बाद उन्होंने पाकिस्तान के खिलाफ ही 2005 में बेंगलूर में 201 और 2006 में लाहौर में 254 रन, दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ 2008 में चेन्नई में 319 और उसी वर्ष श्रीलंका के खिलाफ गाले में नाबाद 201 रन बनाये थे.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay