Sahitya AajTak
Sahitya AajTak

गांधी पर बोले स्वानंद किरकिरे- 'गांधी एक ऐसा विचार जो 150 सालों से है वायरल'

साहित्य आज तक 2019 में मशहूर गीतकार, संगीतकार और एक्टर स्वानंद किरकिरे ने शिरकत की. उन्होंने इस दौरान अपनी प्रोफेशनल फ्रंट के बारे में बातें कीं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 05 November 2019
गांधी पर बोले स्वानंद किरकिरे- 'गांधी एक ऐसा विचार जो 150 सालों से है वायरल' साहित्य आजतक 2019- स्वानंद किरकिरे

साहित्य आज तक 2019 में मशहूर गीतकार, संगीतकार और एक्टर स्वानंद किरकिरे ने शिरकत की. उन्होंने इस दौरान अपनी प्रोफेशनल फ्रंट के बारे में बातें कीं. अपने गानों की लिरिक्स के बारे में बातें कीं और बताया कि आजकल फिल्म इंडस्ट्री में कैसी लिरिक्स लिखी जा रही हैं. साथ ही उन्होंने ये भी बताया कि एक्टिंग के लिए नेशनल अवॉर्ड जीतने के बाद वे कैसा महसूस कर रहे हैं.

बता दें कि स्वानंद किरकिरे को 2017 में आई चुंबक फिल्म के लिए सह कलाकार के राष्ट्रीय फिल्म पुरस्कार से सम्मानित किया गया. स्वानंद किरकिरे ने कहा कि जीतने के बाद काफी कुछ बदला है. अब और अच्छा काम करने की प्रेरणा मिलती है. साथ ही मजाकिया अंदाज में स्वानंद ने कहा कि अब तो अच्छे कपड़े भी पहनने लगा हूं.

महात्मा गांधी के बारे में बात करते हुए स्वानंद ने कहा कि गांधी के अलावा और कोई प्रतीक नहीं है, गांधी एक ऐसा विचार है जो 150 सालों से वायरल है.  गांधी पर मेरा मानना ये है कि 'मेरे गांधी, तुम्हारे गांधी करने से बेहतर होगा कि गांधी को आत्मसात किया जाए. गांधी हम सबमें है.'

मेरा लिखा हुआ गाना सुना लोगों की शादियां हुईं

स्वानंद किरकिरे ने कहा कि एक समय ऐसा था जब लोग मेरे पास आकर मुझे थैंक्स कहते थे. मैं जब वजह पूछता था तो बताते थे कि मेरा गाना सुना सुनाकर उनकी शादी हो गई. ऐसे ही ना जाने कितने ऐसे केस हैं.

साहित्य आजतक में रजिस्ट्रेशन के लिए यहां क्लिक करें


नई पीढ़ी के गीतकारों के बारे में बात करते हुए कहा कि कई सारे ऐसे गीतकार हैं जो कि बहुत अच्छा काम कर रहे हैं. जिस दौर में मैं आया उस समय गुलजार साहब, जावेद अख्तर और प्रसून जोशी जैसे गीतकार सक्रिय थे. नई पीढ़ी में अच्छा लिखने वालों का हुजूम आया है मगर अच्छे गाने बॉलीवुड में बन नहीं रहे हैं.

साहित्य आजतक की पूरी कवरेज यहां देखें

मगर स्वानंद ने कहा कि वरुण ग्रोवर द्वारा लिखा गया  मोह मोह के धागे, कौसर मुनीर द्वारा लिखा गया- माना की हम यार नहीं और अमिताभ भट्टाचार्या द्वारा लिखा गया बापू सेहत के लिए तू हानिकारक है बेहद खूबसूरती से लिखा गया है. मुझे अफसोस है कि मैं इन गानों को नहीं लिख पाया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay