Sahitya AajTak
Sahitya AajTak

साहित्य आज तक: अनुराग कश्यप बोले- जो पूछा जाएगा वो बक दूंगा, पंगे तो होते रहते हैं

जिस शख्स की फिल्में रिलीज होने से पहले ही लीक हो जाती रही हैं. जो शख्स अपने दिल की बात कहने में जरा भी नहीं हिचकिचाता. चाहे मामला सेंसर बोर्ड का हो या फिर प्रधानमंत्री से गुहार लगाने का. वह बिंदास बोलने में यकीन रखता है. साहित्य आज तक में अनुराग कश्यप से मिलें...

Advertisement
aajtak.in
विष्णु नारायण नई दिल्ली, 11 November 2016
साहित्य आज तक: अनुराग कश्यप बोले- जो पूछा जाएगा वो बक दूंगा, पंगे तो होते रहते हैं Anurag Kashyap

12-13 नवंबर को दिल्ली में हो रहा है साहित्य आज तक. इस इवेंट में एंट्री फ्री है. बस रजिस्ट्रेशन करवाना होगा. उसका लिंक इस आर्टिकल के आखिरी में मिलेगा. ये आर्टिकल है अनुराग कश्यप के बारे में. फिल्म डायरेक्टर हैं. किताबें विताबें खूब पढ़ते हैं. हमने पूछा. हमें भी बताओ. अपने हिस्से के साहित्य के बारे में. तो ये सब बोले.

फैजाबाद में रहते थे हम. 11 साल का था. तब क्राइम एंड पनिशमेंट पढ़ी थी. हिंदी में. उस दौर में रशियन लिटरेचर हिंदी में ट्रांसलेट होकर खूब आता था. फिर उस टाइम अन्ना कैरेनिना पढ़ा था. उसके बाद महाभारत. ये तो घर में ही रखी थीं. पूरा वॉल्यूम नहीं था, मगर बहुत छोटा भी नहीं था. रामायण भी पढ़ डाली.

हिंदी की बात करूं तो जो पहली चीज पढ़ी वो था शरद जोशी का व्यंग्य, जीप में सवार इल्लियां. प्रेमचंद की कहानियों का संकलन मानसरोवर भी पूरा घोंट गया था.

2. सबसे पहले जो लिखा
मसाला डोसा पर पोएम लिखी थी. मम्मी पापा को सुनाई. वो मेरी शकल देख रहे थे कि इसे क्या हो गया है. ये सब काम 9-10 की उम्र में ही किए.
फिर देहरादून के हिलग्रींस बोर्डिंग स्कूल में एक कॉमिक बुक ड्रॉ किया था. मुझे आज भी उसका टाइटल याद है- किम ह्यूज हो गए फ्यूज. एक वंडरमैन करके कैरेक्टर भी बनाया था.

चार पन्ने की कॉमिक्स बनाकर बेचता था. नोटबुक की सेंटर पेज से पन्ने उखाड़ लेता था. कॉमिक्स के बदले बच्चे मुझे चॉकलेट देते थे. मजे की बात ये है कि मेरी भतीजी (दबंग के डाइरेक्टर अभिनव कश्यप की बेटी) भी यही करती है. कॉमिक्स बनाती है. प्रत्यांगिरा नाम है उसका. अभी कुछ ही दिन पहले उसने एथलेटिक्स में नेशनल जीता. 200 मीटर में.

3. साहित्य आज तक में क्या खास रहेगा
मुझे कुछ नहीं मालूम. सच में. जो मुझसे पूछा जाएगा, बक दूंगा. ऐसे ही तो करता आया हूं. पंगे तो बाद में पड़ते हैं.

रजिस्ट्रेशन के लिए यहां क्लिक करें  

इंटरव्यू साभार- www.thelallantop.com

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay