एडवांस्ड सर्च

FIFA: पहली जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेंगे पोलैंड और कोलंबिया

पोलैंड को अपने पहले मैच में सेनेगल से 1-2 से जबकि कोलंबिया को जापान से 1-2 से मात खानी पड़ी है. पालैंड और कोलंबिया ने अभी अंकों का खाता नहीं खोला है और दोनों ही टीमें ग्रुप में क्रमश: तीसरे और चौथे नंबर पर है.

Advertisement
aajtak.in
तरुण वर्मा कजान (रूस), 24 June 2018
FIFA: पहली जीत दर्ज करने के इरादे से उतरेंगे पोलैंड और कोलंबिया पोलैंड फुटबॉल टीम (getty images)

फीफा विश्व कप में अपना पहला मुकाबला हार चुकीं पोलैंड और कोलंबिया टूर्नामेंट के 21वें संस्करण में पहली जीत दर्ज करने के इरादे से मैदान पर उतरेंगी.

पोलैंड को अपने पहले मैच में सेनेगल से 1-2 से जबकि कोलंबिया को जापान से 1-2 से मात खानी पड़ी है. पोलैंड और कोलंबिया ने अभी अंकों का खाता नहीं खोला है और दोनों ही टीमें ग्रुप में क्रमश: तीसरे और चौथे नंबर पर है.

पोलैंड की टीम सेनेगल के खिलाफ आत्मघाती गोल खा बैठी थी जिसकी बदौलत उसे शिकस्त झेलनी पड़ी थी. अगर यह आत्मघाती गोल नहीं होता तो मैच ड्रॉ पर समाप्त होता और उसे एक अंक मिल जाता. पोलैंड के फारवर्ड डेविड कोवनिक को इस बार अंतिम एकादश में मौका मिल सकता है जो पिछली बार दूसरे हाफ में सबस्टिट्यूट के रूप में खेले थे.

वहीं सेंटर बैक के रूप में खेलने वाले कामील ग्लिक कंधे की चोट से पूरी तरह उबर चुके हैं लेकिन इसके बावजूद अगले मैच में उनका खेलना संदिग्ध लग रहा है. पिछले मैच में स्टार खिलाड़ी और कप्तान रोबर्ट लेवांडोस्की गेंद हासिल करने के लिए संघर्ष करते नजर आ रहे थे जिसके कारण पोलैंड मैच में कुछ खास नहीं कर सका था. टीम चाहेगी कि लेवांडोस्की कोलंबिया के खिलाफ अच्छा खेले.

पोलैंड की टीम फीफा विश्व कप के इतिहास में पहला मैच हारने के बाद कभी भी अगले दौर के लिए क्वालीफाई नहीं सकी है. ऐसे में रूस में इस बार उसके पास यह रिकॉर्ड का मौका हो सकता है. टीम विश्व कप इतिहास में अब तक नौ मैच खेले हैं जिसमें उसने केवल दो जीते हैं और सात हारे हैं.

FIFA: जर्मनी की जीत पर फैंस ने बारिश में नाचकर जश्न मनाया

दूसरी तरफ कोलंबिया की टीम भी अपने पिछले प्रदर्शन में सुधार करना चाहेगी. टीम जापान के खिलाफ मुकाबले में छठे मिनट में ही गोल खा बैठी. इससे पता चलता है कि टीम का डिफेंस कमजेार है और पोलैंड उसके इस डिफेंस में सेंध लगा सकती है.

कोलंबिया के जेम्स रोड्रिग्यूज इस मैच में टीम का हिस्सा हो सकते हैं जो पिछले मैच में सबस्टिट्यूट के रूप में खेले थे. कार्लोस सांचेज को येलो कार्ड मिलने के बाद टीम 87 मिनट तक 10 खिलाड़ियों के साथ खेली थी.

कोलंबिया की टीम ने विश्व कप में यूरोपियन देशों के खिलाफ अब तक नौ मैच खेले हैं जिसमें उसने केवल दो जीते हैं जबकि पांच हारे हैं और दो ड्रॉ रहे हैं. कोलंबिया को ये दो जीत 1994 में स्विटजरलैंड के खिलाफ और 2014 में यूनान के खिलाफ मिली थी.

टीम ने विश्व कप इतिहास में अब तक 19 मैच खेले हैं और इनमें से एक भी गोल रहित नहीं रहा है. विश्व कप के इतिहास में कोलंबिया और पोलैंड पहली बार एक-दूसरे के खिलाफ मुकाबले में उतरेंगे. टूनार्मेंट में बने रहने के लिए दोनों टीमों के पास बस जीत ही एकमात्र विकल्प है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement
Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay