एडवांस्ड सर्च

Advertisement
कोरोना की हिदायतें उर्दू शायरी में

कोरोना की हिदायतें उर्दू शायरी में

कोरोना संकट ने एक नई अभिव्यक्ति दी है और ये है- सोशल डिस्टैंसिंग. सामाजिक मेलजोल लेकिन ज़रा दूरी से. उर्दू शायरी में सोशल डिस्टेंसिंग पर भी काफ़ी कुछ लिखा गया है. परवेज़ आलम के इस पॉडकास्ट में उर्दू के कई जानकार ऐसे शेर भी सुना रहे हैं और उन अशआर पर चर्चा भी कर रहे हैं.

Advertisement

ये भी सुनिए

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay