एडवांस्ड सर्च

82 साल की महिला के पेट में मिला 40 साल का भ्रूण

अमेरिका के कोलंबिया की रहने वाली एक महिला के पेट में दर्द था और जब वह डॉक्‍टर के पास पहुंची तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई. जी हां, मेडिकल जांच में पता चला कि 82 साल की उस महिला के पेट में 40 साल का भ्रूण पल रहा है.

Advertisement
aajtak.in
आज तक वेब ब्‍यूरो [Edited by: बबिता पंत]कोलंबिया, 14 December 2013
82 साल की महिला के पेट में मिला 40 साल का भ्रूण महिला के पेट में 40 साल का भ्रूण पल रहा है

अमेरिका के कोलंबिया की रहने वाली एक महिला के पेट में दर्द था और जब वह डॉक्‍टर के पास पहुंची तो उसके पैरों तले जमीन खिसक गई. जी हां, मेडिकल जांच में पता चला कि 82 साल की उस महिला के पेट में 40 साल का भ्रूण पल रहा है. आपको बता दें कि जब भ्रूण गर्भाशय के बाहर विकसित होता है तो मेडिकल साइंस में उस स्थिति को 'Lithopedion' या स्‍टोन बेबी कहा जाता है.

खबरों के मुताबिक महिला को पहले लगा था कि उसे पेट में सिर्फ दर्द है, लेकिन जब जांच की गई तो 'Lithopedion' की बात सामने आई. मेडिकल के इतिहास में अब तक ऐसे 300 मामले सामने आए हैं.

बहरहाल, डेड टिश्‍यू से बने भ्रूण को निकालने के लिए महिला का ऑपरेशन किया जाएगा. डॉक्‍टरों के मुताबिक, 'हमें पहले लगा था कि महिला के पेट में पत्‍थर हैं. लेकिन जब अल्‍ट्रासाउंड किया गया तो पता चला कि महिला के पेट में ट्यूमर है'.

डॉक्‍टर बताते हैं, 'ऐसा इसलिए हुआ क्‍योंकि भ्रूण गर्भाशय में विकसति होने के बजाए दूसरी जगह चला गया. इस स्थिति में महिला का पेट गर्भवती जैसा नहीं दिखता है.'

बताया जा रहा है कि महिला को सर्जरी के लिए किसी दूसरे अस्‍पताल में ट्रांसफर कर दिया गया है. गौरतलब है कि साल 2009 में 92 साल की एक महिला के पेट में 60 साल का स्‍टोन बेबी मिला था.

Lithopedion का सबसे पहला मामला 68 साल की फ्रांसिसी महिला कोलंबे में मिला था. महिला की मौत के बाद उसकी पोस्‍टमार्टम रिपोर्ट से पता चला था कि उसके पेट में पिछले 28 सालों से स्‍टोन बेबी था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay