एडवांस्ड सर्च

जब डोनाल्ड ट्रंप ने नेपाल और भूटान को बताया भारत का हिस्सा, उच्चारण भी किया गलत

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की दक्षिण एशिया के कई देशों बारे में अज्ञानता को देखकर लोग हैरान हैं. ट्रंप ने नेपाल और भूटान को लेकर जो अनभिज्ञता दिखाई है उसको लेकर उनकी सोशल मीडिया पर आलोचना हो रही है.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: दिनेश अग्रहरि]नई दिल्ली, 06 February 2019
जब डोनाल्ड ट्रंप ने नेपाल और भूटान को बताया भारत का हिस्सा, उच्चारण भी किया गलत ट्रंप ने दिखाई अज्ञानता (फोटो: गूगल मैप और रायटर्स)

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप दक्ष‍िण एशियाई देशों के बारे में अपनी अज्ञानता की वजह से सोशल मीडिया पर आलोचना का शिकार हुए हैं. यही नहीं, मीडिया की खबरों के अनुसार, उन्होंने दोनों देशों के नाम का उच्चारण भी गलत किया.

डोनाल्ड ट्रंप को यह लगता है कि नेपाल और भूटान भारत में हैं. उन्होंने नेपाल को 'निप्पल' (Nipple) और भूटान को 'बुटॉन (Button) बताया. जी हां, यह कोई मजाक की बात नहीं है. ट्रंप ने सच में ऐसा कहा है. इस बारे में टाइम पत्रिका के संवाददाता ने अपने एक आर्टिकल में जानकारी दी है. इस आर्ट‍िकल का हिस्सा इस प्रकार है- ' दक्षिण एशिया पर एक चर्चा के दौरान ट्रंप के सलाहकार एक मैप लेकर आए जिसमें अफगानिस्तान से लेकर बांग्लादेश तक सभी देशों को दर्शाया गया था.

इस मीटिंग में शामिल कांग्रेस और खुफिया विभाग के अधिकारियों ने यह जानकारी दी. उनके मुताबिक ट्रंप ने नक्शे की ओर ऊंगली करके कहा कि वे यह जानते हैं कि नेपाल, भारत का हिस्सा है, इस पर उन्हें बताया गया कि नेपाल एक स्वतंत्र देश है. इसी तरह उन्होंने कहा कि वह भूटान के बारे में जानते हैं, यह भी भारत का हिस्सा है, लेकिन फिर उन्हें बताया गया कि भूटान भी एक स्वतंत्र देश है'

पॉलिटिको की खबर के अनुसार साल 2017 में ट्रंप की भारत के पीएम नरेंद्र मोदी से मुलाकात के पहले यह ब्रीफिंग की जा रही थी. इसमें राष्ट्रपति ट्रंप ने नेपाल को 'निप्पल' और भूटान को 'बुटॉन' बताया.

इस बीच अमेरिकी कांग्रेस में ट्रंप ने स्टेट ऑफ यूनियन संबोधन दिया जिसमें उन्होंने अमेरिका-मेक्सिको बॉर्डर, विदेश नीति और कई मसलों की चर्चा की. राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने अपने स्टेट ऑफ दि यूनियन भाषण में एक बार फिर कहा कि वो अमेरिका-मेक्सिको सीमा पर दीवार बनाने के लिए प्रतिबद्ध हैं. अमेरिकी कांग्रेस के निचले सदन हाउस ऑफ रिप्रेजेंटेटिव में बोलते हुए ट्रंप ने कहा कि यह दीवार अमेरिका के लिए बेहद जरूरी है, क्योंकि इससे सीमा पार से गैरकानूनी अप्रवासियों और ड्रग्स की तस्करी को रोकने में बड़ी मदद मिलेगी.

राष्ट्रपति ट्रंप ने अपने कार्यकाल का दूसरा स्टेट ऑफ दि नेशन भाषण दिया है. ट्रंप ने कहा कि गैरकानूनी अप्रवासियों का अमेरिका आना एक बड़ी राष्ट्रीय समस्या है. हालांकि ट्रंप ने दीवार की फंडिंग का रास्ता आसान करने के लिए इसे बॉर्डर इमरजेंसी नहीं कहा. ट्रंप ने दोनों डेमोक्रैट और रिपब्लिकन पार्टी से अपील की कि वो 15 फरवरी तक सुलह करते हुए मामले का हल निकालने का काम करें. गौरतलब है कि ट्रंप अक्सर अपनी अज्ञानता भरे अजीब बयान की वजह से सोशल मीडिया में आलोचना का शिकार होते हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay