एडवांस्ड सर्च

नोबेल न मिलने पर डोनाल्ड ट्रंप का छलका दर्द, ओबामा को दिए जाने पर उठाए सवाल

डोनाल्ड ट्रंप ने 2009 में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को नोबेल पुरस्कार दिए जाने पर भी हैरानी जताई है. ट्रंप ने कहा कि ओबामा को राष्ट्रपति बनते ही पुरस्कार मिला और उन्हें क्यों मिला, नहीं पता.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 24 September 2019
नोबेल न मिलने पर डोनाल्ड ट्रंप का छलका दर्द, ओबामा को दिए जाने पर उठाए सवाल डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो)

  • ट्रंप को नोबेल शांति पुरस्कार नहीं जीत पाने का अफसोस
  • नोबेल पुरस्कार के चयन पर डोनाल्ड ट्रंप ने उठाए सवाल
  • पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को मिला था का नोबेल पुरस्कार.

अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप को नोबेल शांति पुरस्कार नहीं जीत पाने का अफसोस है. उन्होंने कहा कि ये गलत है कि उन्हें कभी नोबेल शांति पुरस्कार नहीं मिला. ट्रंप ने पुरस्कार के चयन पर भी सवाल उठाए. उन्होंने कहा कि अगर निष्पक्ष रूप से ये पुरस्कार दिया जाता तो मुझे कई चीजों के लिए ये पुरस्कार मिल सकता है.

डोनाल्ड ट्रंप ने 2009 में अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा को नोबेल पुरस्कार दिए जाने पर भी हैरानी जताई है. ट्रंप ने कहा कि ओबामा को राष्ट्रपति बनते ही पुरस्कार मिला और उन्हें क्यों मिला, नहीं पता. डोनाल्ड ट्रंप ने ये बातें न्यूयॉर्क में पाकिस्तान के प्रधानमंत्री इमरान खान से मुलाकात के दौरान कही. बता दें कि अमेरिका के पूर्व राष्ट्रपति बराक ओबामा ने वर्ष 2009 का नोबेल शांति पुरस्कार जीता था. ओबामा को विश्‍व शांति के लिए किए गए प्रयासों के लिए यह पुरस्‍कार दिया गया था.

दरअसल, पाकिस्तान के एक पत्रकार ने ट्रंप से कहा कि अगर आप कश्मीर मुद्दे का हल निकाल दिए तो बहुत संभावना है कि आप नोबेल पुरस्कार के योग्य होंगे. इस पर ट्रंप ने कहा कि अगर वे निष्पक्ष रूप से दें तो मुझे बहुत सारी चीजों के लिए नोबेल पुरस्कार मिल सकता है.

इमरान से मुलाकात में ट्रंप ने क्या कहा

इमरान खान से मुलाकात के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि कश्मीर और अनुच्छेद 370 पर मोदी का भाषण बहुत आक्रामक था. वहां मौजूद लोग इसे अच्छे से सुन रहे थे. ट्रंप ने इमरान को आईना दिखाते हुए कहा कि मुझे पाकिस्तान पर भरोसा है, लेकिन मेरे सामने जो लोग हैं वे पाकिस्तान पर यकीन नहीं करते.

ट्रंप ने उम्मीद जाहिर की कि भारत और पाकिस्तान साथ आ सकते हैं. उन्होंने एक बार अपना पुराना बयान दोहराया कि अगर दोनों पक्ष राजी हों तो वो भारत-पाकिस्तान के बीच मध्यस्थता करने को तैयार हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay