एडवांस्ड सर्च

एटम बम हमले की धमकी पर US ने PAK को चेताया, भारत के साथ पुराना दोस्त रूस भी हुआ खड़ा

रूस ने पाकिस्तान से अपने देश में मौजूद आतंकवादियों पर उचित कार्रवाई करने को कहा है. उधर, अमेरिका ने भी पाकिस्तान के भारत को न्यूक्लियर अटैक की धमकी देने का विरोध किया है.

Advertisement
aajtak.in
अभि‍षेक आनंद नई दिल्ली, 02 October 2016
एटम बम हमले की धमकी पर US ने PAK को चेताया, भारत के साथ पुराना दोस्त रूस भी हुआ खड़ा रूस के राष्ट्रपति व्लादिमीर पुतिन

भारत के पुराने दोस्त रूस ने भारत-पाकिस्तान की मौजूदा तनावपूर्ण स्थिति पर इंडिया का पक्ष लिया है. रूस ने पाकिस्तान से अपने देश में मौजूद आतंकवादियों पर उचित कार्रवाई करने को कहा है. दरअसल, अमेरिका ने भी पाकिस्तान के भारत को न्यूक्लियर अटैक की धमकी देने का विरोध किया है. अमेरिका ने मजबूती से अपना स्टैंड पाकिस्तान को बता दिया है कि वह भारत को धमकाए जाने से खुश नहीं है.

रूस के विदेश मंत्रालय ने एक बयान में कहा है कि वह आतंकवाद के खिलाफ लड़ाई में साथ है. रूस ने भारत और पाकिस्तान को मौजूदा स्थिति को और खराब नहीं करने को कहा है. रूस ने कहा है कि वह भारत और पाकिस्तान के बीच LoC पर तनाव बढ़ने से चिंतित है.  भरोसेमंद दोस्त रूस ने भारत-पाकिस्तान से राजनीतिक और कूटनीतिक तरीकों से अपनी समस्या को हल करने को कहा है.

अमेरिका ने PAK को साफ-साफ कहा
एक वरिष्ठ अमेरिकी अधिकारी ने नाम नहीं बताने की शर्त पर कहा है कि अमेरिका ने पाकिस्तान को साफ-साफ शब्दों में यह बात कही है कि भारत को न्यूक्लियर अटैक की धमकी देने से वह खुश नहीं है. अधिकारी ने कहा कि यह बहुत ही चिंता का विषय है और गंभीर मामला है.

क्या है मामला?
पाकिस्तान के रक्षा मंत्री ख्वाजा आसिफ ने बीते 15 दिनों में दो बार कहा है कि पाकिस्तान भारत के खिलाफ न्यूक्लियर अटैक कर सकता है. इसी बयान के बाद ओबामा प्रशासन का ध्यान पाकिस्तान की ओर खींचा है और अमेरिकी सरकार ने इसे गैरजिम्मेदार करार दिया है. न्यूक्लियर हथियारों की सुरक्षा के सवाल पर अमेरिकी अधिकारी ने कहा है कि न्यूक्लियर हथियारों की रक्षा की मॉनिटरिंग कर रहा है. अमेरिका के स्टेट डिपार्टमेंट के अधिकारी ने कहा कि पाकिस्तान कुछ भी कहे, लेकिन अमेरिका पहले से ही पाकिस्तान के न्यूक्लियर हथियारों की सेफ्टी पर नजर रखे हुए है.

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के उप-प्रवक्ता मार्क टोनर ने कहा है कि न्यूक्लियर हथियार वाले देशों के ऊपर 'बहुत जिम्मेदारी' है. इससे पहले अमेरिका ने उरी अटैक की निंदा की है और पाकिस्तान और भारत से तनाव खत्म करने की अपील भी की थी.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay