एडवांस्ड सर्च

बच्चों और 270 करोड़ रुपये लेकर UAE से भागीं दुबई की रानी: रिपोर्ट्स

लंबे समय से रानी हया बिन्त अल हुसैन सोशल मीडिया पर सक्रिय नहीं हैं. इसके अलावा 20 मई के बाद से उन्हें जनता के बीच भी कहीं नहीं देखा गया. आमतौर पर अल हुसैन का सोशल मीडिया अकाउंट चैरिटेबल कार्यों की तस्वीरों से फुल रहता था. इस पर भी उन्होंने फरवरी के बाद कुछ पोस्ट नहीं किया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 01 July 2019
बच्चों और 270 करोड़ रुपये लेकर UAE से भागीं दुबई की रानी: रिपोर्ट्स हया बिन्त अल हुसैन

संयुक्त अरब अमीरात (UAE) की रानी हया बिन्त अल हुसैन के भाग जाने की खबर है. रिपोर्ट्स के मुताबिक, दुबई के अरबपति शासक की छठी पत्नी हया बिन्त अल हुसैन 31 मिलियन पाउंड (करीब 270 करोड़ रुपये) और दो बच्चों के साथ भाग गई हैं. मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक, दुबई के शासक शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम की बेगम लंदन में छुपी हुई हैं.

अल हुसैन जॉर्डन के शाह (राजा) अब्दुल्ला की सौतेली बहन हैं. हया बिन्त अल हुसैन ने कहा था कि वह अपने शौहर से तलाक चाहती हैं, इस कारण वह जर्मनी भाग गई हैं. उनके दो बच्चे जलीला (11) और जैयद (7) हैं. रिपोर्ट्स में कहा गया है कि नई लाइफ शुरू करने के लिए हया बिन्त अल हुसैन अपने साथ 31 मिलियन पाउंड ले गई हैं.

लंबे समय से रानी हया बिन्त अल हुसैन सोशल मीडिया पर सक्रिय नहीं हैं. इसके अलावा 20 मई के बाद से उन्हें जनता के बीच भी कहीं नहीं देखा गया. आमतौर पर अल हुसैन का सोशल मीडिया अकाउंट चैरिटेबल कार्यों की तस्वीरों से फुल रहता था. इस पर भी उन्होंने फरवरी के बाद कुछ पोस्ट नहीं किया है. हया बिन्त अल हुसैन ने ऑक्सफोर्ड से पढ़ाई की है.

अरब मीडिया की रिपोर्टों में दावा किया गया है कि हया बिन्त अल हुसैन की दुबई से भागने में जर्मन राजनयिक ने मदद की है. इससे दोनों देशों के बीच संभावित राजनयिक संकट भी उत्पन्न होगा.

रिपोर्ट में दावा किया गया है कि जर्मन अथॉरिटी से शेख मोहम्मद बिन राशिद अल मकतूम ने उनकी बेगम लौटाने की गुजारिश भी की थी, जिसे जर्मन अथॉरिटी ने मानने से इनकार कर दिया. दुबई के शाही परिवार के सबसे करीबी दो सूत्रों ने बताया कि रानी हया ने देश छोड़ दिया है और वह तलाक मांग रही हैं. इससे पहले दुबई के शासक की बेटी रानी लतीफा ने भी अपने पिता और दुबई से भागने का प्रयास किया था. उन्हें भारतीय तटरक्षक बलों ने पकड़ लिया था. इसके बाद उन्हें वापस भारत को सौंप दिया गया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay