एडवांस्ड सर्च

भारत-चीन पर ट्रंप का ‘अल्पज्ञान’, हैरानी में मीटिंग छोड़कर चले गए थे PM मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक मुलाकात के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ने कुछ ऐसा कह दिया था कि पीएम बैठक ही छोड़ गए थे. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि आपका बॉर्डर तो चीन से लगता भी नहीं है. डोनाल्ड ट्रंप के इस अल्प ज्ञान पर नरेंद्र मोदी भी हैरान थे.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 17 January 2020
भारत-चीन पर ट्रंप का ‘अल्पज्ञान’, हैरानी में मीटिंग छोड़कर चले गए थे PM मोदी प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी, अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप (फोटो: ANI)

  • डोनाल्ड ट्रंप पर छपी किताब में कई खुलासे
  • भारत-चीन बॉर्डर की नहीं थी जानकारी
  • पीएम मोदी के साथ बैठक में किया था जिक्र

अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप अपने ट्वीट और बेतुके बयानों को लेकर हमेशा चर्चा में रहते हैं. अमेरिकी मीडिया लगातार अपने ही राष्ट्रपति को इस मुद्दे पर कठघरे में खड़ा करता है, लेकिन अब एक ऐसी बात सामने आई है जो चर्चा का विषय बन गई है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ एक मुलाकात के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति ने कुछ ऐसा कह दिया था कि पीएम बैठक ही छोड़ गए थे. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा था कि आपका बॉर्डर तो चीन से लगता भी नहीं है. डोनाल्ड ट्रंप के इस अल्प ज्ञान पर नरेंद्र मोदी भी हैरान थे.

अमेरिका के दो पत्रकारों ने एक नई किताब लिखी है, जिसका नाम A Very Stable Genius: Donald J.Trump’s Testing of America है. इस किताब में डोनाल्ड ट्रंप के राष्ट्रपति कार्यकाल का आंकलन किया गया है, जिसमें कई ऐसे किस्सों का जिक्र किया गया है जो अभी तक लोगों के सामने नहीं आ पाए थे.

417 पेज की इस किताब में एक किस्सा नरेंद्र मोदी और डोनाल्ड ट्रंप की बैठक का भी है. किताब में लिखा गया है, ‘प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी से जब अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप पहली बार मिले तो इस मुलाकात में कुछ ऐसा हुआ कि भारत के प्रधानमंत्री हैरान थे. बातचीत के दौरान ट्रंप ने मोदी से कहा था कि ऐसा तो बिल्कुल नहीं है कि चीन बिल्कुल तुम्हारे बॉर्डर के साथ ही हो’.

51lzidc8yvl_011720090047.jpg

किताब में दावा किया गया है कि डोनाल्ड ट्रंप के इस बयान पर पीएम नरेंद्र मोदी हैरान थे. क्योंकि सच तो ये है कि भारत और चीन करीब 2500 मील का बॉर्डर साझा करते हैं, जो कि अमेरिका और मैक्सिको के बॉर्डर से भी काफी बड़ा है. दोनों नेताओं के बीच जब बैठक खत्म हुई तो पीएम नरेंद्र मोदी हैरान थे और उन्होंने कहा था कि इस व्यक्ति पर विश्वास नहीं किया जा सकता है. ऐसा कहते हुए वो बैठक से बाहर निकल गए.

पहले भी दे चुके हैं कुछ ऐसे ही बयान

ऐसा पहली बार नहीं है जब डोनाल्ड ट्रंप के साउथ एशिया के बारे में ज्ञान पर सवाल उठे हो. इससे पहले एक बार डोनाल्ड ट्रंप ने नेपाल और भूटान को भारत का हिस्सा बता दिया था. जब साउथ एशिया पर नजर रखने वाली व्हाइट हाउस की एक टीम ने डोनाल्ड ट्रंप के सामने प्रेजेंटेशन दी तो ट्रंप ने कहा था कि उन्हें पता था कि भूटान और नेपाल भारत का ही हिस्सा है. लेकिन जब टीम ने मैप दिखाया तो उन्हें कुछ पता चला. इतना ही नहीं एक ब्रीफिंग में डोनाल्ड ट्रंप ने नेपाल को ‘निप्पल’ और ‘भूटान’ को बटन कहा था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay