एडवांस्ड सर्च

BRICS: प्रधानमंत्री मोदी ने लखवी के मुद्दे पर चीन पर साधा निशाना

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ब्रिक्स सम्मेलन में चीन पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा कि यह सभी देशों की जिम्मेदारी है कि वे आतंकवाद व अतिवाद से निपटने के लिए एकजुट हों.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited By: रोहित गुप्ता]उफा (रूस), 10 July 2015
BRICS: प्रधानमंत्री मोदी ने लखवी के मुद्दे पर चीन पर साधा निशाना ब्रिक्स सम्मेलन में प्रधानमंत्री मोदी

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने गुरुवार को ब्रिक्स सम्मेलन में चीन पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए कहा कि यह सभी देशों की जिम्मेदारी है कि वे आतंकवाद व अतिवाद से निपटने के लिए एकजुट हों.

चीन ने की थी भारत के प्रस्ताव की खिलाफत
पिछले महीने भारत ने लश्कर-ए-तैयबा के आतंकवादी जकीउर रहमान लखवी की रिहाई को लेकर संयुक्त राष्ट्र से पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की मांग की थी, लेकिन चीन ने भारत के प्रस्ताव को रोक दिया था. रूस के उफा में बुधवार को हुई द्विपक्षीय वार्ता के दौरान भी मोदी ने इस मुद्दे को शी के समक्ष उठाया था.

चीन पर नहीं हुआ मोदी की बात का
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मुंबई हमले के मास्टरमाइंड जकीउर रहमान लखवी की पाकिस्तान में रिहाई का मुद्दा चीन के सामने भी उठाया, लेकिन इसका कोई असर होता नहीं दिख रहा है. मामले पर पाकिस्तान का पक्ष लेने वाले चीन ने भारत को ही आंखें दिखाने का प्रयास किया है. चीन ने पाकिस्तान के खिलाफ कार्रवाई की भारत की मांग को संयुक्त राष्ट्र में रोकने के अपने कदम का बचाव किया और कहा कि उसका रुख ‘तथ्यों’ पर आधारित और ‘वास्तविकता और निष्पक्षता’ की भावना में था.

मोदी की अपील
ब्रिक्स के पूर्ण अधिवेशन को संबोधित करते हुए मोदी ने कहा, 'हमें समूहों, देशों, प्रायोजकों या लक्षित देशों के बीच बिना कोई भेदभाव किए आतंकवाद व अतिवाद के खिलाफ एकजुट होना चाहिए.' इस अधिवेशन में चीन के राष्ट्रपति शी जिनपिंग, रूस के राष्ट्रपति ब्लादिमीर पुतिन, ब्राजील के राष्ट्रपति डिलमा रोसेफ व दक्षिण अफ्रीका के राष्ट्रपति जैकब जुमा उपस्थित थे.

चीन पर साधा निशाना
प्रधानमंत्री ने ब्रिक्स देशों से समूहों, देशों, प्रायोजकों या लक्षित देशों के बीच बिना कोई भेदभाव किए आतंकवाद व अतिवाद के खिलाफ एकजुट होने की अपील की. चीन पर परोक्ष रूप से निशाना साधते हुए अपने संदेश में मोदी ने कहा कि प्रगति और समृद्धि के लिए शांति व स्थिरता आवश्यक है और यह देशों की जिम्मेदारी है कि वे आतंकवाद व अतिवाद से निपटने के लिए एकजुट हों.

इनपुट: IANS

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay