एडवांस्ड सर्च

PM मोदी और ट्रंप की नजदीकी से पाकिस्तान को लगी मिर्ची, बताया धोखेबाज

पाकिस्तान की परेशानी की वजह डोनाल्ड ट्रंप का वो बयान है जिसमें उन्होंने मध्यस्थता के अपने प्रस्ताव से कदम पीछे खींच लिए और कहा कि भारत और पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे को खुद हल कर सकते हैं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 29 August 2019
PM मोदी और ट्रंप की नजदीकी से पाकिस्तान को लगी मिर्ची, बताया धोखेबाज PM मोदी और डोनाल्ड ट्रंप (फाइल फोटो- रॉयटर्स)

फ्रांस में जी-7 समिट के दौरान अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के बीच दिखी नजदीकी से पाकिस्तान बेहद परेशान है. पाकिस्तान की परेशानी की वजह डोनाल्ड ट्रंप का वो बयान है जिसमें उन्होंने मध्यस्थता के अपने प्रस्ताव से कदम पीछे खींच लिए और कहा कि भारत और पाकिस्तान कश्मीर के मुद्दे को खुद हल कर सकते हैं.

परेशान पाकिस्तान के रेलवे मंत्री शेख रशीद अहमद ने कहा कि ट्रंप हमें धोखा दे रहे हैं. अपने विवादास्पद बयानों के लिए चर्चा में रहने वाले पाकिस्तान के रेलवे मंत्री शेख रशीद अहमद ने कहा कि कश्मीर मामले में अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप, भारत और पाकिस्तान दोनों को ही धोखा दे रहे हैं.

ट्रंप ने पहले कहा था कि अगर भारत चाहेगा तो वह कश्मीर मामले में मध्यस्थता करने के लिए तैयार हैं, लेकिन पीएम मोदी से बात के बाद उन्होंने कहा कि इस मामले को भारत और पाकिस्तान को द्विपक्षीय स्तर पर सुलझाना चाहिए. पाकिस्तानी मीडिया में प्रकाशित रिपोर्ट के अनुसार, पाकिस्तानी रेलवे मंत्री ने कहा कि भारत और पाकिस्तान के बीच चलने वाली थार और समझौता एक्सप्रेस उन्होंने रोक दी है और किसी में दम हो तो इन्हें चलाकर दिखाए.

उन्होंने कहा कि कश्मीर की जंग शुरू हो चुकी है. फिर उन्होंने कहा कि अगर जंग हुई तो हम पीछे नहीं हटेंगे और 'भारत को नेस्तनाबूद कर देंगे.

क्या बोले थे ट्रंप...

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने हाल में ही कहा कि कश्मीर मामले में भारत को किसी भी तीसरे पक्ष की मध्यस्थता की जरूरत नहीं है. भारत के इस रुख के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने कहा, 'मेरा दोनों पीएम मोदी और पीएम इमरान खान के साथ अच्छे संबंध हैं. मेरा मानना है कि वे इसे खुद हल कर सकते हैं. वे इसे लंबे समय से हल करने की कोशिश कर रहे हैं.'

अमेरिकी राष्ट्रपति ने कहा था कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने उन्हें बताया कि कश्मीर की स्थिति नियंत्रण में है और उन्हें लगता है कि वह पाकिस्तान के साथ सीधे इस स्थिति से निपट सकते हैं.

बता दें कि दोनों नेताओं ने फ्रांस में जी-7 की बैठक से इतर 45 मिनट चली द्विपक्षीय बैठक से पहले मीडिया को संबोधित किया था. इस दौरान मोदी ने दृढ़ता से दोहराया था कि कश्मीर एक द्विपक्षीय मुद्दा है. जब मोदी से इस मामले में मध्यस्थता से संबंधित सवाल पूछा गया तो उन्होंने कहा था कि 'सभी मुद्दे द्विपक्षीय प्रकृति के हैं.'

जब ट्रंप से पूछा गया कि क्या मध्यस्थता की उनकी पेशकश अभी भी बरकरार है तो उन्होंने कहा, मैं यहीं पर हूं. इसके बाद उन्होंने कहा कि उन्हें लगता है कि भारत और पाकिस्तान द्विपक्षीय स्तर पर ऐसा कर सकते हैं. ट्रंप ने कहा, 'हमने कश्मीर को लेकर बात की थी और प्रधानमंत्री मोदी को लगता है कि स्थिति उनके नियंत्रण में है. अब जब वह पाकिस्तान के साथ बातचीत करेंगे तो मुझे यकीन है कि वह कुछ करने में सक्षम होंगे. वह शायद कुछ बहुत अच्छा कर पाएंगे.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay