एडवांस्ड सर्च

ओबामा दौरे से पाक मीडिया तिलमिलाया, PM मोदी को कहा 'गधा'

गणतंत्र दिवस पर दुनिया के सबसे शक्तिशाली देश अमेरिका के राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत आने और प्रधानमंत्री मोदी से उनके दोस्ताने संबधों को पड़ोसी देश पाकिस्तान पचा नहीं पाया है. पाकिस्तान की तकलीफ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वहां के न्यूज चैनल ने तिलमिलाहट में मोदी को अपशब्द तक कह दिया.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited By: आदर्श शुक्ला]नई दिल्ली, 27 January 2015
ओबामा दौरे से पाक मीडिया तिलमिलाया, PM मोदी को कहा 'गधा' Modi and Obama

गणतंत्र दिवस पर अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा के भारत दौरे और प्रधानमंत्री मोदी से उनके दोस्ताने संबधों को पड़ोसी मुल्क पाकिस्तान पचा नहीं पाया है. पाकिस्तान की तकलीफ का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि वहां के न्यूज चैनल ने तिलमिलाहट में मोदी को अपशब्द तक कह दिया.

पाकिस्तानी चैनल ARY NEWS के एंकर ने मुहावरे का इस्तेमाल करते हुए प्रधानमंत्री मोदी को 'गधा' तक बता डाला. चैनल ने मोदी को 'गुजरात का कसाई' बताते हुए वीजा विवाद पर भी कटाक्ष किए हैं. यहां तक कि अमेरिका के और नजदीक आते दिख रहे भारत और उसके नेता को न्यूज चैनल ने 'मौकापरस्त' तक कह डाला.

ARY NEWS चैनल की इस रिपोर्ट में कहा गया है कि 'मोदी कभी अमेरिका की आंख की किरकिरी थे, आज वही लाडले बने हुए हैं.' चैनल ने अपनी रिपोर्ट में कहा, 'गुजरात के कसाई नरेंद्र मोदी पर कभी अमेरिका ने पाबंदियां लगा रखी थीं, लेकिन जरूरत में गधे को बाप बनाने का मुहावरा गलत नहीं है.' रिपोर्ट में एंकर कहता है, 'हवाई अड्डे पर नरेंद्र मोदी और ओबामा की झप्पी बहुत कुछ बता गई. दिल्ली में जिस तरह ओबामा का स्वागत किया गया, उससे जाहिर होता है कि भारत, अमेरिका को मक्खन लगा रहा है.

सुरक्षा परिषद में भारत की स्थाई सीट के लिए अमेरिका की मजबूत पैरवी पर भी चैनल ने अपनी रिपोर्ट में चिंता जताई है. साथ ही सवाल उठाते हुए कहा, 'अमेरिका में मोदी के खिलाफ मुकदमा क्यों कायम था और क्यों मोदी के अमेरिका आने पर पाबंदियां लगाई गई थीं. मोदी पीएम क्या बने, अमेरिका के लिए सब कुछ बदल गया.' रिपोर्ट में कहा गया है कि ऐसे देश को सुरक्षा परिषद की स्थाई सीट कैसे दी जा सकती है, जहां मुसलमानों के साथ-साथ ईसाई और दूसरे धर्मों के लोगों के साथ भेदभाव बरता जाता है.

पाकिस्तानी मीडिया ने भारत में हो रहे महिलाओं के साथ अपराध पर भी निशाना साधा और कहा कि जिस देश की राजधानी को 'रेप कैपिटल' कहा जाने लगा हो, उसे ऐसी महत्वपूर्ण भूमिका कैसे दी जा सकती है. रिपोर्ट में सीमा पर तनाव को भी मुद्दा बनाया है. रिपोर्ट के मुताबिक, 'सुरक्षा परिषद की शर्त है कि सदस्य देश का अपने पड़ोसी देशों के साथ संबंध तनावग्रस्त नहीं होने चाहिए, जबकि भारत ने लगातार सीमा पर तनाव बना रखा है.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay