एडवांस्ड सर्च

यशवंत सिन्हा इतने बड़े नेता नहीं कि मैं उनपर टिप्पणी करूं: सुशील मोदी

सुशील कुमार मोदी ने बीजेपी से नाराज नेता यशवंत सिन्हा पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार किया. उन्होंने कहा कि यशवंत सिन्हा के बेटे ने भी असहमति जाहिर की है, और यशवंत सिन्हा इतने बड़े नेता नहीं कि मैं उनपर कोई टिप्पणी करूं.

Advertisement
aajtak.in
सना जैदी पटना, 03 November 2018
यशवंत सिन्हा इतने बड़े नेता नहीं कि मैं उनपर टिप्पणी करूं: सुशील मोदी इंडिया टुडे के मंच पर सुशील मोदी

बिहार में उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी ने इंडिया टुडे स्टेट ऑफ स्टेट्स के मंच पर कई सवालों के जवाब दिए और अपनी राय रखी. इस दौरान उन्होंने बीजेपी से नाराज नेता यशवंत सिन्हा पर कोई भी टिप्पणी करने से इनकार किया. यशवंत सिन्हा पर सुशील मोदी ने कहा कि वो बिहार में नहीं झारखंड में रहे इसलिए मैं उनके बारे में ज्यादा टिप्पणी नहीं करूंगा.

सुशील मोदी ने कहा कि मैं यशवंत सिन्हा को इतना बड़ा नेता नहीं मानता कि उनके बारे में मुझे कोई टिप्पणी करने की जरूरत पड़े. उन्होंने कहा कि यशवंत सिन्हा के बेटे ने भी असहमति जाहिर की है. जयंत सिन्हा खुद यशवंत सिन्हा से असमत नहीं हैं. वहीं शत्रुघ्न सिन्हा की लोकप्रियता पर सुशील मोदी ने कहा कि इस बार वो पटना से अपना भाग्य आज़मा लें उन्हें पता चल जाएगा कि उनकी लोकप्रियता की क्या स्थिति है.

शत्रुघ्न सिन्हा को चुनौती देते हुए सुशील मोदी ने कहा, हम चाहते हैं कि सिन्हा पटना से चुनाव लड़ें उन्हें अपनी लोकप्रियता का अहसास हो जाएगा, लोग उन्हें उनकी असली जमीन पर पहुंचाकर दिखा देंगे. उपमुख्यमंत्री ने कहा कि वो राष्ट्रीय जनता दल (आरजेडी) या कांग्रेस जिससे चाहें उस पार्टी से चुनाव लड़े. बिहार की जनता उनसे बदला लेने का इंतजार कर रही है.

सुशील मोदी ने कहा कि शत्रुघ्न सिन्हा बीजेपी से संतुष्ट नहीं हैं और उन्होंने जब एक बार लालटेन का हाथ थाम ही लिया है तो लालटेन लेकर घूम जाएं उनको अपनी औकात का पता चल जाएगा कि वो कहां खड़े हैं. सेल्फी विद तेजस्वी पर सुशील मोदी ने कहा कि हम शत्रुघ्न सिन्हा के चुनाव मैदान में आने का इंतजार कर रहे हैं.

वहीं नीतीश के साथ रिश्तों के सवाल पर सुशील मोदी ने कहा कि नीतीश जी के साथ पहले भी अच्छे रिश्ते थे, अब और बेहतर हो गए हैं. उनके साथ किसी तरह का कोई मतभेद नहीं है. हम नीतीश को 40 वर्षों से देख रहे हैं,  उनके काम करने का तरीका सही है. सुशील मोदी ने कहा बीच में चार साल जब अलग थे तब भी रिश्ते बने हुए थे.  चार वर्षों के बीच ही बीजेपी और एनडीए का गठबंधन हो गया. वहीं लालू यादव पर निशाना साधते हुए सुशील मोदी ने कहा कि लालू प्रसाद ऐसे व्यक्ति हैं, जिनके साथ कोई सीरियर इंसान काम ही नहीं कर सकता. लालू के साथ बिना मतलब की बात दो घंटे की जा सकती हैं, लेकिन काम की बातें 5 मिनट नहीं कर सकते.

नरेंद्र मोदी की लोकप्रियता पर सुशील कुमार मोदी ने कहा कि अटल बिहारी वाजपेयी की लोकप्रियता को पीएम मोदी ने पार कर दिया है. उन्होंने कहा कि आज अगर अटल बिहारी जिंदा होते तो उन्हें भी गर्व होता कि मोदी ने उनसे ज्यादा लोकप्रियता हासिल कर ली, क्योंकि जब बेटा बाप से आगे निकल जाता है तो ये बाप के लिए खुशी और गर्व की बात है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay