एडवांस्ड सर्च

नवाज शरीफ ने अमेरिका के सामने गाया पुराना राग, जॉन केरी से कहा- कश्मीर मामले में दें दखल

पाक पीएम नवाज शरीफ संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र में भी कश्मीर का मुद्दा उठाने वाले हैं. उन्होंने सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य देशों से अपील की है कि भारत को कश्मीर में कथित बर्बरताओं से रोका जाना चाहिए.

Advertisement
aajtak.in
अंजलि कर्मकार न्यूयॉर्क, 20 September 2016
नवाज शरीफ ने अमेरिका के सामने गाया पुराना राग, जॉन केरी से कहा- कश्मीर मामले में दें दखल संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर का मुद्दा उठाएंगे पाक पीएम

कश्मीर में तनाव को लेकर पाकिस्तान के प्रधानमंत्री नवाज शरीफ ने अमेरिका से मदद मांगी है. सोमवार को नवाज ने न्यूयॉर्क में अमेरिकी विदेश मंत्री जॉन केरी से मुलाकात की. पाक पीएम ने कश्मीर में मानव अधिकारों के कथित उल्लंघन का मुद्दा उठाया और कहा कि भारत-पाकिस्तान के बीच के तनाव को खत्म करने के लिए अमेरिका को दखल देना चाहिए.

पाकिस्तान ने जारी किया बयान
नवाज शरीफ की जॉन केरी से मुलाकात के बाद पाकिस्तान की ओर से एक बयान जारी किया गया. इसमें लिखा है, 'प्रधानमंत्री ने कहा कि कश्मीर में 107 से अधिक लोग मारे जा चुके हैं, हजारों घायल हैं और सरकार के स्तर पर मानवाधिकार का घोर हनन किया जा रहा है.'

'अपने पद का इस्तेमाल करे अमेरिका'
बयान के मुताबिक, शरीफ ने केरी से कहा कि उन्हें अभी तक 'राष्ट्रपति बिल क्लिंटन का वो वादा याद है कि अमेरिका, पाकिस्तान और भारत के बीच के द्विपक्षीय विवादों और मुद्दों को हल करने में मदद करने के लिए अपनी भूमिका निभाएगा. शरीफ ने कहा, 'मैं अमेरिकी प्रशासन और विदेश मंत्री केरी से उम्मीद करता हूं कि वह भारत और पाकिस्तान के बीच द्विपक्षीय मुद्दों को हल करने के लिए अपने पद का इस्तेमाल करेंगे.'

संयुक्त राष्ट्र महासभा में कश्मीर का मुद्दा उठाएंगे पाक पीएम
पाक पीएम नवाज शरीफ संयुक्त राष्ट्र महासभा के 71वें सत्र में भी कश्मीर का मुद्दा उठाने वाले हैं. उन्होंने सुरक्षा परिषद के स्थायी सदस्य देशों से अपील की है कि भारत को कश्मीर में कथित बर्बरताओं से रोका जाना चाहिए.

अमेरिका ने की उरी हमले की निंदा
गौरतलब है कि अमेरिका ने 18 सितंबर को जम्मू-कश्मीर के उरी में हुए आतंकी हमले की कड़ी निंदा की है. अमेरिकी स्टेट डिपार्टमेंट ने कहा कि अमेरिका आतंकवाद का मुकाबला करने के लिए भारत के साथ मजबूती से खड़ा है. उरी हमले में सेना के 17 जवान शहीद हो गए थे, जबकि 19 से ज्यादा घायल हुए हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay