एडवांस्ड सर्च

पेरिस: नोट्र-डाम चर्च में भीषण आग, धू-धू कर जली 800 साल पुरानी धरोहर

पेरिस के लैंडमार्क में शुमार इस नोट्र-डाम कैथेड्रल में सोमवार शाम को आग लगी और देखते ही देखते पूरे इमारत में फैल गई. जल्द ही आग की गर्मी से इस गिरिजाघर की छत टूट गई, इसके बाद इसका ऊपरी हिस्सा भी लपटों की चपेट में आ गया. कुछ ही घटों में गिरिजाघर का शिखर जमींदोज हो गया.

Advertisement
aajtak.in [Edited By: पन्ना लाल]नई दिल्ली, 16 April 2019
पेरिस: नोट्र-डाम चर्च में भीषण आग, धू-धू कर जली 800 साल पुरानी धरोहर आग की लपटों में घिरा नोट्र-डाम कैथेड्रल, फोटो-रॉयटर्स

फ्रांस की मशहूर चर्च नोट्र-डाम कैथेड्रल सोमवार रात जलकर खाक हो गई. राजधानी पेरिस में स्थित ये चर्च क्रिश्चयन आस्था का एक महत्वपूर्ण केंद्र है. आग की प्रचंड लपटों की वजह से 13वीं सदी में बने इस चर्च की इमारत ध्वस्त हो गई. इस घटना पर अमेरिकी राष्ट्रपति ट्रंप, फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों समेत दुनिया के कई नेताओं ने गहरा दुख प्रकट किया है. राष्ट्रपति एमेनुएल मैक्रां ने एक बेहद भावुक संदेश में कहा कि हमारे वजूद के एक हिस्से को जलता हुआ देखकर उन्हें बेहद तकलीफ हो रही है.

पेरिस के लैंडमार्क में शुमार इस कैथेड्रल में सोमवार शाम को आग लगी और देखते ही देखते पूरे इमारत में फैल गई. जल्द ही आग की गर्मी से इस गिरिजाघर की छत टूट गई, इसके इसका ऊपरी हिस्सा भी इसकी चपेट में आ गया. कुछ ही घटों में गिरिजाघर का शिखर जमींदोज हो गया.

घटनास्थल से निकलते धुएं के गुबार और आग की लपटों को पेरिस के लोगों ने असहाय होकर देखा. समाचार एजेंसी रॉयटर्स के मुताबिक गिरिजाघर से कुछ ही दूर रहने वाले शख्स जैसेक पोलट्रक ने पांचवीं फ्लोर से इस ह्रदय विदारक घटना को देखा. उसने कहा, "मुझे लगता है पूरी छत जल गई है, मुझे बिल्डिंग के बारे में कोई उम्मीद नहीं है" घटना की जानकारी मिलते ही फ्रांस के राष्ट्रपति इमैनुएल मैक्रों वहीं रवाना हो गए. इस बीच उन्होंने ट्वीट किया, " पूरे देशवासियों की तरह मैं भी आज बहुत ही दुखी हूं. मुझे ये देखकर बहुत तकलीफ हो रही है कि हमारा एक हिस्सा जल रहा है" इस घटना के बाद उन्होंने देश को संबोधित करने का पूर्व निर्धारित कार्यक्रम भी रद्द कर दिया है.

2019-04-15t174443z_575326147_rc147ee643c0_rtrmadp_3_france-notredame-770x1835_041619023122.jpgगिरिजाघर में आग की तस्वीर (फोटो-रॉयटर्स)

पेरिस के अग्निशमन विभाग के अधिकारियों और कर्मचारियों ने आग पर काबू पाने की कोशिश की. सबसे पहले तो उन्होंने आस-पास के इलाके को खाली करवा लिया. यही वजह रही है कि इस हादसे में अबतक किसी के घायल होने की खबर नहीं आई है.

फ्रांस सरकार के एक जूनियर मंत्री लॉरेंट न्यूनेज ने बताया कि अभी आग के कारणों पर टिप्पणी करना जल्दबाजी होगी. फ्रांस पुलिस इस घटना को महज एक हादसा मानकर चल रही है.

बताया जा रहा है कि इस कैथेड्रल में मरम्मत का काम चल रहा था और आग की वजह यही हो सकती है. पेरिस के मेयर ने कहा कि अंदर कई कलात्मक कृतियां हैं, ये वास्तविक रूप से एक ट्रेजेडी है. पेरिस की ये धरोहर दुनिया के सबसे प्राचीन कैथेड्रल में से एक है. हर साल लाखों लोग यहां घूमने आते हैं. इस इमारत की नक्काशी और कलाकारी आश्चर्य में डालने वाली है. इस गिरिजाघर को यूनेस्को ने भी वर्ल्ड हेरिटेज घोषित किया है.

इस घटना पर अमेरिका के राष्ट्रपति और उपराष्ट्रपति ने भी ट्वीट किया है. डोनाल्ड ट्रंप ने कहा कि पेरिस में नोट्र-डाम कैथेड्रल की आग काफी भयानक है, शायद फ्लाइंग वाटर टैंकर का इस्तेमाल कर इसे बुझाया जा सकता है, तुरंत कुछ किया जाना चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay