एडवांस्ड सर्च

न्यूयॉर्क में एक ही होटल में ठहरेंगे मोदी-शरीफ, लेकिन नहीं होगी मुलाकात

संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्ष‍िक सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ एक ही होटल में ठहरने वाले हैं. इससे कई तरह के कयास लगने शुरू हो गए हैं, क्योंकि अभी तक दोनों शीर्ष नेताओं के बीच किसी औपचारिक मुलाकात की बात से इनकार किया गया है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in [Edited By: स्वपनल सोनल]न्यूयॉर्क, 07 October 2015
न्यूयॉर्क में एक ही होटल में ठहरेंगे मोदी-शरीफ, लेकिन नहीं होगी मुलाकात प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और नवाज शरीफ (फाइल फोटो)

संयुक्त राष्ट्र महासभा के वार्ष‍िक सम्मेलन के दौरान प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और उनके पाकिस्तानी समकक्ष नवाज शरीफ एक ही होटल में ठहरने वाले हैं. इससे कई तरह के कयास लगने शुरू हो गए हैं, क्योंकि अभी तक दोनों शीर्ष नेताओं के बीच किसी औपचारिक मुलाकात की बात से इनकार किया गया है.

सूत्रों ने बताया कि पीएम मोदी बुधवार शाम न्यूयॉर्क पहुंच रहे हैं. वह वाल्डोर्फ एस्टोरिया होटल में ठहरेंगे, जबकि नवाज शरीफ 25 सितंबर की शाम यहां पहुंचेंगे और वह भी इसी होटल में ठहरेंगे. यह वही होटल है, जिसमें ठहरने से बीते दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा ने मना कर दिया था.

दरअसल, इस होटल को बीते दिनों चीन की एक कंपनी ने खरीद लिया है. ऐसे में ओबामा के सिक्योरिटी स्टाफ को इस होटल में जासूसी का डर सता रहा है. फिलहाल, यह देखना दिलचस्प होगा कि होटल में प्रवास के दौरान मोदी-शरीफ का आमना-सामना होता है या नहीं.

सम्मेलन को संबोधित करेंगे मोदी
प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी आगामी 25 सितंबर को टिकाउ विकास शिखर सम्मेलन को संबोधित करेंगे, जिसकी मेजबानी विश्व निकाय के महासचिव बान की मून कर रहे हैं. इस सम्मेलन में नया और महत्वाकांक्षी उत्तर-2015 विकास एजेंडा स्वीकार किया जाएगा. शरीफ 27 सितंबर को इस उच्च स्तरीय सम्मेलन को संबोधित करेंगे. मोदी 26 और 27 सितंबर को कैलीफोर्निया में होंगे. इसके बाद वह फिर 28 सितंबर को न्यूयॉर्क लौटेंगे.

ओबामा से करेंगे मुलाकात
पीएम मोदी 28 सितंबर को न्यूयॉक वापस लौटने के बाद अमेरिकी राष्ट्रपति बराक ओबामा से मुलाकात करेंगे. साथ ही संयुक्त राष्ट्र मुख्यालय में आयोजित उच्च स्तरीय शांति-रक्षण शिखर सम्मेलन में शिरकत करेंगे. पाकिस्तानी प्रधानमंत्री भी शांति-रक्षण शिखर सम्मेलन में हिस्सा लेंगे. विभिन्न देशों के नेताओं का यह बहुपक्षीय जमावड़ा मोदी और शरीफ को रूबरू आने का मौका दे सकता है.

भारत संयुक्त राष्ट्र शांति-रक्षण का सबसे ज्यादा योगदान करने वाला देश है. अभी भारत के 180,000 सैनिक संयुक्त राष्ट्र से स्वीकृति प्राप्त 69 शांति-रक्षण अभियानों में से 44 में हिस्सा ले रहे हैं. संयुक्त राष्ट्र शांति-रक्षण अभियानों में पाकिस्तान भी अपने सैनिकों का योगदान कर रहा है. मोदी 28 सितंबर की देर रात या 29 सितंबर के तड़के स्वदेश रवाना होंगे, जबकि पाकिस्तानी प्रधानमंत्री यहीं रूकेंगे. वह बाद में पाकिस्तान रवाना होंगे.

शरीफ 30 सितंबर को संयुक्त राष्ट्र महासभा के वाषिर्क सम्मेलन को संबोधित करेंगे. अगले दिन एक अक्तूबर को विदेश मंत्री सुषमा स्वराज विश्व नेताओं के जमावड़े को संबोधित करेंगी.

-इनपुट भाषा से

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay