एडवांस्ड सर्च

इवांका ट्रंप भी बिहार की बेटी ज्योति की मुरीद, 1200 KM साइकिल चला पिता को ले गई थी गांव

इवांका ट्रंप ने ट्वीट किया कि 15 साल की ज्योति कुमारी ने अपने जख्मी पिता को साइकिल से सात दिनों में 1,200 किमी दूरी तय करके अपने गांव ले गई. इवांका ने आगे लिखा कि सहनशक्ति और प्यार की इस वीरगाथा ने भारतीय लोगों और साइकलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 22 May 2020
इवांका ट्रंप भी बिहार की बेटी ज्योति की मुरीद, 1200 KM साइकिल चला पिता को ले गई थी गांव इवांका ट्रंप ( फोटो- PTI)

  • इवांका ट्रंप ने साझा की ज्योति कुमारी की स्टोरी
  • साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया दे चुका है ज्योति को ऑफर

कोरोना वायरस के कारण देश में लागू लॉकडाउन के बीच अपने पिता को साइकिल पर बिठाकर गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा जाने वाली ज्योति कुमारी सुर्खियों में है. बिहार की इस लड़की की चर्चा सात समंदर पार भी होने लगी है. अमेरिका के राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप की बेटी इवांका ट्रंप ने अब ज्योति कुमारी को लेकर ट्वीट किया है. उन्होंने ट्विटर पर ज्योति कुमारी की खबर को शेयर किया है और भारतीयों की सहनशीलता को सराहा है.

उन्होंने ट्वीट किया कि 15 साल की ज्योति कुमारी ने अपने जख्मी पिता को साइकिल से सात दिनों में 1,200 किमी दूरी तय करके अपने गांव ले गई. इवांका ने आगे लिखा कि सहनशक्ति और प्यार की इस वीरगाथा ने भारतीय लोगों और साइकलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया का ध्यान अपनी ओर खींचा है.

tweet_052220103643.pngइवांका ने किया ट्वीट

गौरतलब है कि ज्योति के पिता गुरुग्राम में रिक्शा चलाते थे और उनके दुर्घटना का शिकार होने के बाद वह अपनी मां और जीजा के साथ गुरुग्राम आई थी और फिर पिता की देखभाल के लिए वहीं रुक गई. इसी बीच कोविड-19 के कारण लॉकडाउन की घोषणा हो गई और ज्योति के पिता का काम ठप पड़ गया. ऐसे में ज्योति ने पिता के साथ साइकिल पर वापस गांव का सफर तय करने का फैसला किया.

ये भी पढ़ें- लॉकडाउन में 15 साल की लड़की ने 1200 KM साइकिल चलाई, फेडरेशन ने दिया ये 'ऑफर'

साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया ने दिया ऑफर

ज्योति को साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया (सीएफआई) ट्रायल का मौका देगा. सीएफआई फेडरेशन 15 साल की ज्योति को अगले महीने ट्रायल के लिए बुलाएगा. साइकिलिंग फेडरेशन ऑफ इंडिया के चेयरमैन ओंकार सिंह ने गुरुवार को बताया कि अगर ज्योति ट्रायल पास करती है, तो उसे दिल्ली स्थित आईजीआई स्टेडियम परिसर में अत्याधुनिक नेशनल साइकिलिंग अकादमी में ट्रेनी के रूप में चुना जाएगा.

देखें तस्वीरें- 15 साल की लड़की साइकिल पर पिता को बिठाकर गुरुग्राम से पहुंची बिहार

15 साल की ज्योति लॉकडाउन में अपने पिता मोहन पासवान को साइकिल पर बिठाकर 1200 किमी की दूरी सात दिनों में तय करके गुरुग्राम से बिहार के दरभंगा पहुंच गई थी. ज्योति ने रोजाना 100 से 150 किमी साइकिल चलाई.

तीन बहन और दो भाइयों के बीच दूसरे नंबर की संतान ज्योति ने कहा कि वह पढ़ाई छोड़ चुकी हैं, लेकिन अगर मौका मिलता है तो दोबारा पढ़ाई करना चाहती हैं. ज्योति ने कहा कि मैं पढ़ाई छोड़ चुकी हूं, लेकिन अगर मौका मिला, तो मैं दोबारा पढ़ाई शुरू करना चाहती हूं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay