एडवांस्ड सर्च

अनोखी शादी में 40 हजार बाराती, मेले में तब्दील हुआ रिसेप्शन एरिया

घोड़ों का डांस, बैंड बाजे, भंगड़ा और आतिशबाजी का दिलकश नज़ारा. ये सब किसी मेले का भीड़ नहीं, बल्कि यह लाहौर में सांसद मलिक सैफ उल मलूक खोकर के बेटे फैसल सैफ खोकर की शादी का रिसेप्शन है. जिसमें 40 हजार से ज्यादा मेहमान आए थे. जिधर देखो मेहमान ही मेहमान. दूल्हा फैसल सैफ खोकर ने कहा, 'हमने इतने लोगों को इसलिए बुलाया था कि जिन लोगो ने हमें इतना प्यार दिया, वह हमारे खुशियों में साथ बैठकर खाना खा सके.'

Advertisement
aajtak.in
अंजलि कर्मकार/ अनिल कुमार लाहौर, 20 September 2016
 अनोखी शादी में 40 हजार बाराती, मेले में तब्दील हुआ रिसेप्शन एरिया रिसेप्शन के लिए बनाए गए थे 8 पंडाल

पिता की चाहत थी कि उनके बेटे की शादी का भव्य आयोजन हो, जिसे हर शख्स याद रखे और उन्होंने वह सही मायने में पूरा भी किया. मौका था लौहार में सत्तारूढ़ पार्टी पीएमएल नवाज के सांसद मलिक सैफ उल मलूक खोकर के बेटे फैसल सैफ खोकर की शादी का. इसमें 40 हजार लोग बाराती थे.

घोड़ों का डांस, बैंड बाजे, भंगड़ा और आतिशबाजी का दिलकश नज़ारा. ये सब किसी मेले का भीड़ नहीं, बल्कि यह लाहौर में सांसद मलिक सैफ उल मलूक खोकर के बेटे फैसल सैफ खोकर की शादी का रिसेप्शन है. जिसमें 40 हजार से ज्यादा मेहमान आए थे. जिधर देखो मेहमान ही मेहमान. दूल्हा फैसल सैफ खोकर ने कहा, 'हमने इतने लोगों को इसलिए बुलाया था कि जिन लोगो ने हमें इतना प्यार दिया, वह हमारे खुशियों में साथ बैठकर खाना खा सके.'

रिसेप्शन के लिए आठ पंडाल बनाए गए थे. हर पंडाल में पांच-पांच हजार लोगों के बैठने का इंतजाम किया गया था. मेहमान इतने थे कि कई लोग दूल्हा और उसके पिता को मुबारकबाद देने के लिए ढूंढते रह गए, लेकिन मिल नहीं पाए. सांसद मलिक सैफ उल मलूक खोकर का कहना था कि वह अपने बेटे की शादी एक मेले की तरह करना चाहते थे. अल्लाह की रहमत से सबकुछ ठीत तरीके से हो गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay