एडवांस्ड सर्च

अमेरिका ने फिर दिया अनुच्छेद 370 पर बयान, कहा- भारत के फैसले का समर्थन, लेकिन...

पाकिस्तान के द्वारा इस मसले को लगातार दुनिया के कई मंचों पर उठाया गया है, लेकिन वह इस मसले को भारत के खिलाफ इस्तेमाल करने में नाकाम रहा है. अब अमेरिका ने एक बार फिर अनुच्छेद 370 पर भारत का समर्थन किया है, ट्रंप प्रशासन की ओर से कहा गया है कि भारत के द्वारा जम्मू-कश्मीर पर जो फैसला किया गया है, वह उसका समर्थन करते हैं.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in वॉशिंगटन, 22 October 2019
अमेरिका ने फिर दिया अनुच्छेद 370 पर बयान, कहा- भारत के फैसले का समर्थन, लेकिन... ट्रंप प्रशासन ने किया भारत का समर्थन (फोटो: डोनाल्ड ट्रंप, नरेंद्र मोदी)

  • अमेरिका ने फिर अनुच्छेद 370 पर दिया बयान
  • US विदेश मंत्रालय ने किया भारत के फैसले का समर्थन
  • पहले भी लगातार बयान दे चुका है ट्रंप प्रशासन

जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए हुए दो महीने से अधिक हो गया है. पाकिस्तान के द्वारा इस मसले को लगातार दुनिया के कई मंचों पर उठाया गया है, लेकिन वह इस मसले को भारत के खिलाफ इस्तेमाल करने में नाकाम रहा है. अब अमेरिका ने एक बार फिर अनुच्छेद 370 पर भारत का समर्थन किया है, ट्रंप प्रशासन की ओर से कहा गया है कि भारत के द्वारा जम्मू-कश्मीर पर जो फैसला किया गया है, वह उसका समर्थन करते हैं. हालांकि, अमेरिका की ओर से जम्मू-कश्मीर में लगी पाबंदियों पर चिंता जताई गई है.

अमेरिका के विदेश मंत्रालय के दक्षिण एशिया डिपार्टमेंट की असिस्टेंट सेक्रेटरी एलिस वेल्स की ओर से कहा गया है कि भारत ने इसके पीछे तर्क दिया है कि इससे जम्मू-कश्मीर में विकास की रफ्तार बढ़ेगी, साथ ही कई कानूनों को लागू किया जा सकेगा.

एलिस वेल्स ने कहा, ‘हम भारत के तर्कों का सम्मान करते हैं और फैसले का समर्थन करते हैं. अमेरिका इन हालातों पर नज़र बनाए हुए है, हालांकि हमारी ये भी उम्मीद है कि अभी जो पाबंदियां लगी हुई हैं वह जल्द ही खत्म होंगी’. उन्होंने कहा कि भारत को सभी फैसले मानवाधिकार के आधार पर लेने चाहिए, जल्द ही इंटरनेट और फोन सुविधा को जल्द शुरू करना चाहिए.

आपको बता दें कि 5 अगस्त को केंद्र सरकार ने जम्मू-कश्मीर से अनुच्छेद 370 को पंगु करने का काम किया था, साथ ही जम्मू-कश्मीर और लद्दाख को अलग-अलग केंद्र शासित प्रदेश बनाया गया था. इसी के बाद से ही इस विषय की दुनियाभर में चर्चा है.

मोदी सरकार की ओर से जबसे ये फैसला लिया गया है, तो पाकिस्तान को काफी दिक्कत हुई है. पाकिस्तान लगातार इस मसले को दुनिया के सामने उठा रहा है, लेकिन अधिकतर देशों ने इस मसले पर भारत के फैसले का समर्थन किया है और इसे भारत का आंतरिक मामला बताया है. पाकिस्तान की ओर से कश्मीर के मसले पर अपने देश में कई तरह के प्रदर्शन भी किए गए थे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay