एडवांस्ड सर्च

ISIS का दावा- हमारे थे श्रीलंका में मारे गए 3 आत्मघाती हमलावर

आतंकी संगठन ISIS ने एक बयान में कहा कि अबू हमाद, अबू सूफयान और अबू अल का का मारे गए. उसमें कहा गया है कि उन्होंने ऑटोमेटिक हथियारों से गोलाबारी की और गोला-बारूद खत्म होने के बाद, विस्फोटक बेल्ट के जरिए खुद को उड़ा लिया.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 28 April 2019
ISIS का दावा- हमारे थे श्रीलंका में मारे गए 3 आत्मघाती हमलावर श्रीलंका धमाके के आरोपी आईएस हमलावर (रॉयटर्स)

इस्लामिक स्टेट ने दावा किया कि श्रीलंका के पूर्वी प्रांत में सुरक्षा बलों के साथ मुठभेड़ के दौरान उसके तीन आतंकवादी मारे गए हैं, जिन्होंने खुद को बम से उड़ा लिया था. मुठभेड़ शुक्रवार को उस समय हुई, जब सुरक्षा बल ईस्टर के मौके पर गिरजाघरों और होटलों को निशाना बनाकर किए गए धमाकों के लिए जिम्मेदार स्थानीय आतंकवादी समूह नेशनल तौहीद जमात (एनटीजे) के लड़ाकों की तलाश कर रहे थे. इन धमाकों में 253 लोग मारे गए थे और 500 से अधिक घायल हो गए थे.

‘कोलंबो गजट’ की एक रिपोर्ट के मुताबिक, आईएस की न्यूज एजेंसी ‘अमाक’ के जरिए ISIS ने एक बयान में कहा कि अबू हमाद, अबू सूफयान और अबू अल-का’का मारे गए. उसमें कहा गया है कि उन्होंने ऑटोमेटिक हथियारों से गोलाबारी की और ‘गोला-बारूद खत्म होने के बाद, विस्फोटक बेल्ट के जरिए खुद को उड़ा लिया.’

इसके साथ ही आईएस ने श्रीलंका में तीन जिहादियों की ओर से 'घात लगाकर किए गए आक्रमण' की जिम्मेदारी ली है. आईएस का दावा है कि कलमुनई शहर में हुई गोलीबारी में 17 लोग मारे गए हैं, जबकि श्रीलंका प्रशासन ने 16 लोगों के मारे जाने की पुष्टि की है. एफे न्यूज की एक रिपोर्ट के अनुसार, संगठन की आधिकारिक समाचार एजेंसी अल अमाक पर शनिवार को अरबी भाषा में जारी एक बयान में कहा गया कि कलमुनई में जहां सुरक्षा अभियान चलाया गया था, वहां 17 पुलिस अधिकारी मारे गए हैं. इसके साथ ही अमाक ने हमले में शामिल दो कथित आतंकवादियों की तस्वीर भी जारी की है.

शुक्रवार की शाम को सैन्य अधिकारी ने बताया कि सुरक्षा बलों को पूर्व के अंपारा जिले के एक घर से इस्लामिक स्टेट के झंडे, किताबें और अन्य चीजें मिली हैं. ऐसा अनुमान है कि यहां आतंकवादी संगठन आतंकियों को शपथ दिलाते थे. शुक्रवार को देशभर से 10 लोगों को गिरफ्तार किया गया. नई गिरफ्तारियों समेत रविवार को ईस्टर के दिन हुए विस्फोटों के बाद अब तक 80 लोगों को गिरफ्तार किया जा चुका है.

श्रीलंका के प्रधानमंत्री रानिल विक्रमसिंघे ने कहा कि अधिकारी अब अपना ध्यान आतंकवादी समूह समर्थकों के धर दबोचने पर लगा रहे हैं. गार्जियन की रिपोर्ट के अनुसार, उन्होंने कहा, 70 लोगों को खोजा जा रहा है, जिनमें से कुछ खुद को उड़ाने में सक्षम हैं.

गौरतलब है कि पुलिस के विशेष कार्य बल (एसटीएफ) और सेना के जवानों ने एक खुफिया सूचना के आधार पर कोलंबो से करीब 360 किलोमीटर दूर स्थित कलमुनई शहर में एक मकान पर छापा मारा था, जिसके बाद हथियारबंद लोगों के साथ मुठभेड़ हुई. हथियारबंद लोगों ने जवानों पर गोलियां चलाईं. मुठभेड़ की चपेट में आए एक नागरिक की भी मौत हो गई. हिंसक झड़पों के दौरान माना जाता है कि तीन लोगों ने विस्फोटकों से खुद को उड़ा लिया.

मौके से छह बच्चों और तीन महिलाओं सहित कुल 15 शव बरामद हुए थे. पुलिस प्रवक्ता ने बताया था कि तीन संदिग्ध फिदायीन हमलावर भी इन 15 लोगों में शामिल हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay