एडवांस्ड सर्च

नेपाल के रास्ते भारत में घुसपैठ की फिराक में हैं PAK आतंकी, सीमा पर अलर्ट

पाकिस्तान अब अपनी स्थलीय सीमा के साथ ही आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के लिए भारत-नेपाल खुली सीमा का इस्तेमाल करने की फिराक में है. जानकारी के मुताबिक धर्म प्रचारक के रूप में पाकिस्तानी आर्मी के कुछ संदिग्ध नेपाल में हैं.

Advertisement
aajtak.in
सुजीत झा रक्सौल, 12 September 2019
नेपाल के रास्ते भारत में घुसपैठ की फिराक में हैं PAK आतंकी, सीमा पर अलर्ट नेपाल के साथ लगती खुली सीमा पर गश्त करते एसएसबी के जवान

  • भारत से लगते जिलों की मस्जिदों में तकरीर कर रहे संदिग्ध
  • जानकारी वायरल होने के बाद वापस भेजने की तैयारी में नेपाल
  • नेपाल की आर्म्ड फोर्स और एसएसबी ने सीमा पर बढ़ाई गश्त

भारत सरकार द्वारा जम्मू कश्मीर से अनुच्छेद 370 हटाए जाने के बाद से ही पड़ोसी देश पाकिस्तान लगातार आतंकवादियों की घुसपैठ कराने की कोशिश कर रहा है. जम्मू कश्मीर से लगती सीमा से घुसपैठ की कोशिशें विफल होती देख अब पाकिस्तान ने भी रणनीति बदल ली है.

पाकिस्तान अब अपनी स्थलीय सीमा के साथ ही आतंकवादियों की घुसपैठ कराने के लिए भारत-नेपाल खुली सीमा का इस्तेमाल करने की फिराक में है. जानकारी के मुताबिक धर्म प्रचारक के रूप में पाकिस्तानी आर्मी के कुछ संदिग्ध नेपाल में हैं. ऐसे सात पाकिस्तानी नागरिकों की जानकारी खुफिया एजेंसियों के हाथ लगी है.

सभी संदिग्धों के नेपाल के सीमावर्ती शहर वीरगंज में होने की सूचना है. बताया जाता है कि यह सभी पाकिस्तान आर्मी से ट्रेंड हैं और धर्म प्रचार के नाम पर सीमाई मस्जिदों में तकरीर करते हैं. साथ ही मौका पाकर भारत में घुसने और त्योहारों के अवसर पर तबाही मचाने की फिराक में जुटे हैं.

जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हैं सातों संदिग्ध

बताया जा रहा है कि यह आतंकवादी पाकिस्तानी संगठन जैश-ए-मोहम्मद से जुड़े हुए हैं. इनकी नेपाल में मौजूदगी की भनक भारतीय खुफिया एजेंसियों को लगी तो नेपाल के काउंटरपार्ट से बात कर इसकी जानकारी दी गई. भारत की ओर से जानकारी शेयर किए जाने के बाद भी नेपाल सरकार ने इस पर ध्यान नही दिया.

वायरल हुई सात संदिग्धों की विस्तृत जानकारी

नेपाल में मौजूद सात संदिग्धों की जानकारी अब वायरल हो गई है. इनसे जुड़ी जानकारियां वायरल होने के बाद नेपाल की सुरक्षा एजेंसियां हरकत में आईं और अब भारत के दबाव में नेपाल सरकार इन सभी को वापस पाकिस्तान भेजने की तैयारी में है. बताया जा रहा है कि इनकी बॉडी लैंगुएज से ऐसा लग रहा है कि यह सेना से प्रशिक्षित हैं.

परसा और बारा जिलों की मस्जिदों में हैं संदिग्ध

बताया जाता है कि पाकिस्तानी संदिग्ध जमील सुल्तान, खान वादा, गुल अमान, रहमत अली, अवल बट खान, अजमल खान और अल्लाह दोस्त खान पर नेपाल के सुरक्षाकर्मियों की भी नजर है. सुरक्षाकर्मियों द्वारा नजर रखे जाने की भनक लगने के बाद यह सभी संदिग्ध तकरीर के नाम पर नेपाल के परसा और बारा जिले की मस्जिदों में चले गए.

बताया जाता है कि वीरगंज आने के बाद यह सभी संदिग्ध मुडली जामा मस्जिद, श्रीपुर मस्जिद, कास्मिया मस्जिद, मस्जिद अबरार, सखुआ परसौनी गांव की मस्जिदों के आसपास देखे गए थे.

ऐसा माना जा रहा है कि धर्म का प्रचार करने के नाम पर कई और संदिग्ध सीमाई इलाकों में अभी भी मौजूद हैं. सभी संदिग्ध मौका पाकर भारत की सीमा में प्रवेश करने की जुगत में हैं. इनकी मन्शा दशहरा और दीपावली के अवसर पर भारत में तबाही मचाने की है.

सरहद पर हाई अलर्ट, एसएसबी ने बढ़ाई गश्त

नेपाल के सीमावर्ती इलाकों में संदिग्धों की मौजूदगी के खुफिया इनपुट के बाद सरहद पर तैनात सीमा सुरक्षा बल (एसएसबी) के जवान चौकन्ने हो गए हैं. एसएसबी के जवान प्रत्येक आने-जाने वाले पर कड़ी नजर रख रहे हैं. सघन तलाशी का अभियान चल रहा हैं और एसएसबी के साथ ही नेपाल की आर्म्ड फोर्स ने भी सीमा पर गश्त बढ़ा दी है.

एसएसबी की 47वीं बटालियन के कमांडेंट प्रियव्रत शर्मा ने कहा कि प्रत्येक आने-जाने वाले की कड़ी जांच की जा रही है. उन्होंने कहा कि हमने इंडियन ऑयल कॉर्पोरेशन के साथ ही रक्सौल स्टेशन पर भी नजर रखी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay