एडवांस्ड सर्च

इमरान खान की जीत से आतंकी मसूद अजहर खुश, जारी किया ऑडियो

पाक फौज के बूते सत्ता पर काबिज इमरान खान की जीत के बाद फौज की सरपरस्ती में पल रहे आतंकी मसूद ने खुलकर कबूल किया है कि कश्मीर में लड़ रहे आतंकी उनके हैं.

Advertisement
aajtak.in
परमीता शर्मा नई दिल्ली, 31 July 2018
इमरान खान की जीत से आतंकी मसूद अजहर खुश, जारी किया ऑडियो आतंकी मसूद अजहर (फाइल फोटो)

पाकिस्तान में हुए आम चुनावों में इमरान खान की पार्टी पाकिस्तान तहरीक-ए-इंसाफ को जनता ने सबसे ज्यादा वोट देकर उन्हें अपने भावी प्रधानमंत्री के तौर पर चुना है. 14 अगस्त को इमरान खान प्रधानमंत्री पद की शपथ लेंगे. इमरान खान को मिली इस जीत से अगर सबसे ज्यादा कोई खुश हुआ है तो वो है पाकिस्तान की पनाहगाह में छुपा जैश-ए-मोहम्मद का खूंखार आतंकी मसूद अजहर.

इमरान खान की जीत के बाद जैश-ए-मोहम्मद की तरफ से जारी ऑडियो में खुलकर जिहाद के झंडे बुलंद किए गए हैं. पाक फौज के बूते सत्ता पर काबिज इमरान खान की जीत के बाद फौज की सरपरस्ती में पल रहे आतंकी मसूद ने खुलकर कबूल किया है कि कश्मीर में लड़ रहे आतंकी उनके हैं.

मसूद अजहर ने 11 मिनट के जारी किये गए ऑडियो में कहा, अभी हाल ही में मकबूजा कश्मीर में हमारे दो मुजाहिद शहीद हुए और उनमें से एक ने ऐन शहादत के करीब दीवार पर लिखा, 'जैश-ए-मुहम्मद' जिंदाबाद', ये है जिहाद की करामत, ये है शहादत की लज्जत कि जान निकलते वक्त भी होश सलामत, ईमान सलामत, जज्बा सलामत और ये फिक्र कि जाते-जाते दूसरों को भी रास्ता दिखाते जाएं''

जिहाद के समर्थन में मसूद अजहर ने जहर उगलते हुए कहा, 'जिहाद से अपना रिश्ता मजबूत बनाएं, जिहाद को समझें, जिहाद को मानें, तबियत हासिल करें, जिहाद को सुनते रहें.'

'जिहाद के हथियार के रूप में करें इंटरनेट का इस्तेमाल'

मसूद अजहर ने मुसलमानों से अपील करते हुए कहा कि मोबाइल और इंटरनेट का इस्तेमाल जिहाद के हथियार के रूप में करें. उसने कहा कि जो मुस्लमान नौजवान जमीन का रंग बदल सकते थे, पहाड़ों का सीना चीर सकते थे, समुंद्र को परास्त कर सकते थे वो वॉट्सऐप पर अल्फाज की मक्खियां मार रहे हैं. मसूद ने कहा कि कश्मीरी मुजाहिदीन अपने मोबाइल और इंटरनेट का सही इस्तेमाल कर रहे हैं. उन्होंने अपने मोबाइल- इंटरनेट को तलवार, बम और तीरकमान बना लिया है और भारत इनसे परेशान है.

मसूद ने जिहाद के लिए मुसलमानों को भड़काते हुए कहा कि जिहाद के प्रसार में मीडिया बाधा पैदा कर रहा है. इसका असर ये हो रहा है कि मुसलमानों का हौसला पस्त है और वो डर में जी रहे हैं और जिहाद की तरफ उनका ऐतबार कमजोर हो रहा है. ये सब मीडिया की साजिश है और मुजाहिद की संख्या पहले 2 लाख थी जो अब 4 लाख हो गई है. दुनिया में ऐसी कोई जगह नहीं है जहां जिहाद और मुजाहिदिन का खात्मा किया जा चुका हो.

ऑपरेशन ऑल आउट पर भी बोला आतंकी

जिहाद की पैरवी करते हुए आतंकी मसूद अजहर ने कहा कि अफगानिस्तान में बदस्तूर जिहाद जारी है और दुश्मन बुरी तरह से बेबस है. कश्मीर में जिहाद के परचम गली-गली में लहरा रहे हैं और ऑपरेशन ऑल-आउट करने वाले खुद बुरी तरह आउट हो रहे हैं.

जैश के नए ऑडियो में मसूद अजहर युवाओं को जिहाद के लिए तैराकी के साथ-साथ तीरंदाजी सीखने की भी अपील कर रहा है. कुछ दिन पहले मसूद अजहर 26/11 के मुंबई हमले जैसा हमला करने के अपने मंसूबों को साफ कर चुका है. इससे पहले जारी अपने ऑडियो में मसूद ने युवाओं को 'समुंद्री जिहाद' के लिए तैराकी सीखने की बात की थी.

पाकिस्तान में इमरान खान की पार्टी की जीत के बाद लश्कर-ए-तैयबा और जमात-उद-दावा का मुखिया हाफिज सईद भी अपने बयान में खुशी का इजहार कर चुका है. नतीजों में अपनी जीत को देखते हुए इमरान खान ने प्रेस कॉन्फ्रेंस करते हुए कहा था कि वो पाकिस्तान को मदीने जैसा बनाना चाहते हैं. इमरान के इस बयान पर हाफिज ने कहा था कि इमरान के इस बयान से मुझे खुशी हुई कि वो देश को मदीने जैसा बनाना चाहते हैं.

गौरतलब है कि इमरान खान पर चुनाव प्रचार के दौरान पाकिस्तान की फौज और फिरकापरस्त ताकतों का समर्थन हासिल होने के आरोप लगते रहे. पाकिस्तान के सभी विपक्षी राजनीतिक दलों ने चुनाव में धांधली के आरोप भी उनपर लगाये. नवाज शरीफ की पार्टी पाकिस्तान मुस्लिम लीग (एन) ने चुनाव प्रचार के दौरान सीधे तौर पर पाक फौज पर इमरान खान की पार्टी को समर्थन करने का आरोप लगाया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay