एडवांस्ड सर्च

इसरो की उपलब्धि से हैरान था खुफिया प्रमुख के लिए ट्रंप का पसंदीदा अफसर

पूर्व सांसद डान कोट्स ने राष्ट्रीय खुफिया एजेंसी के निदेशक के पद पर पुष्टि के लिए अपनी पेशी के दौरान सांसदों से कहा, मैं यह पढ़कर स्तब्ध हो गया था कि भारत ने एक रॉकेट पर 100 से ज्यादा उपग्रहों को अंतरिक्ष में स्थापित किया.

Advertisement
aajtak.in
लव रघुवंशी / BHASHA वॉशिंगटन, 02 March 2017
इसरो की उपलब्धि से हैरान था खुफिया प्रमुख के लिए ट्रंप का पसंदीदा अफसर इसरो ने एक साथ 104 उपग्रहों का प्रक्षेपण किया था

अमेरिका की खुफिया एजेंसी सीआईए सहित देश की सभी खुफिया एजेंसियों के प्रभारी पद की दौड़ में शीर्ष प्रत्याशी ने कहा कि वह यह पढ़कर स्तब्ध रह गये थे कि भारत ने गत महीने एक बार में 100 से ज्यादा उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया.

पूर्व सांसद डान कोट्स ने राष्ट्रीय खुफिया एजेंसी के निदेशक के पद पर पुष्टि के लिए अपनी पेशी के दौरान सांसदों से कहा, मैं यह पढ़कर स्तब्ध हो गया था कि भारत ने एक रॉकेट पर 100 से ज्यादा उपग्रहों को अंतरिक्ष में स्थापित किया. उन्होंने कहा कि अमेरिका इससे पिछड़ते हुए दिखाई देने का खतरा मोल नहीं ले सकता.

कोट्स ने कहा, वे अलग-अलग कार्यों के साथ आकार में छोटे हो सकते हैं, लेकिन एक रॉकेट इन्हें भेज सकता है, मुझे लगता है कि उसमें 104 प्लेटफार्म थे. कोट्स के नाम की अगर संसद से पुष्टि हो जाती है तो वह सीआईए समेत अमेरिका की सभी बड़ी खुफिया एजेंसियों के प्रभारी होंगे. गौरतलब है कि भारतीय अंतरिक्ष अनुसंधान संगठन (इसरो) ने 15 फरवरी को आंध्र प्रदेश के श्रीहरिकोटा अंतरिक्ष केन्द्र से एक रॉकेट पर रिकॉर्ड 104 उपग्रहों का सफल प्रक्षेपण किया था.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay