एडवांस्ड सर्च

Coronavirus: चीन के बाहर ईरान में क्यों हो रही हैं कोरोना वायरस से इतनी मौतें?

Iran Coronavirus: ईरान के कोम शहर में एक चीनी कंपनी सोलर प्लांट लगा रही है. यहां बड़ी संख्या में चीनी इंजीनियर और मजदूर काम कर रहे हैं. यहां काम करने वाले चीनी कर्मचारी लगातार चीन आ जा रहे थे. अंदेशा लगाया जा रहा है कि उन्हीं के जरिए ये वायरस चीन में आया.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 23 February 2020
Coronavirus: चीन के बाहर ईरान में क्यों हो रही हैं कोरोना वायरस से इतनी मौतें? Iran Coronavirus: वुहान के अस्पताल में मरीजों के लिए दवा तैयार करती एक नर्स (फोटो- पीटीआई)

  • ईरान में कोरानावायरस बना काल
  • 28 मरीजों में 6 लोगों की मौत
  • कोम शहर में बढ़ी पीड़ितों की संख्या

चीन में फैले कोरोना वायरस (Coronavirus) का कहर ईरान में देखने को मिल रहा है. ईरान में इस बीमारी से कुछ ही दिनों में 6 लोगों की मौत हो चुकी है. शनिवार को अर्क शहर में एक शख्स की कोराना वायरस से मौत हुई.

28 पीड़ित,  6 की मौत

ईरान के लिए संकट की बात ये है कि यहां पर अब तक मात्र 28 लोग कोरोना वायरस पॉजिटव पाए गए हैं, पीड़ितों की इतनी छोटी संख्या के बावजूद 6 लोगों की मौत हो चुकी है. इस बीमारी से पीड़ित लोगों का ईरान के चार शहरों में इलाज किया जा रहा है. इसमें राजधानी तेहरान भी शामिल है. इसके अलावा कोम, अर्क और रश्त में भी मरीजों का इलाज चल रहा है.

तेहरान में मास्क और सैनिटाइजर की किल्लत

कोरोना वायरस से मौत की खबरें आते ही राजधानी तेहरान में मास्क और हैंड सैनिटाइजर की मांग बढ़ गई है. हालात की वजह से कई दुकानों में मास्क और हैंड सैनिटाइजर की किल्लत हो गई है.

पढ़ें- CAA के खिलाफ दिल्ली के जाफराबाद में शाहीन बाग जैसे हालात, मेट्रो स्टेशन बंद

चीन का वायरस, ईरान कैसे आया चपेट में?

चीन और ईरान की सीमा दूर-दूर तक कहीं नहीं मिलती है. दोनों देशों के बीच लगभग 4600 किलोमीटर की दूरी है, फिर भी ये वायरस ईरान में तेजी से फैल रहा है.

न्यूज एजेंसी पीटीआई के मुताबिक, ईरान के कोम शहर में एक चीनी कंपनी सोलर प्लांट लगा रही है. यहां बड़ी संख्या में चीनी इंजीनियर और मजदूर काम कर रहे हैं. यहां काम करने वाले चीनी कर्मचारी लगातार चीन आ जा रहे थे. अंदेशा लगाया जा रहा है कि उन्हीं के जरिये ये वायरस चीन में आया.

पढ़ें- कोरोना वायरस से जुड़े 10 अहम सवालों के जवाब, जिन्हें हर कोई जानना चाहता है

ईरान के स्वास्थ्य विभाग के अधिकारी मीनू मोहराज ने बताया कि, "वायरस कोम शहर में काम कर रहे मजदूरों के जरिए आया, जो लगातार चीन की यात्रा कर रहे थे."

बता दें कि ईरान के 10 नये कोराना मरीजों में 8 कोम शहर के हैं.  कोम शहर दुनिया भर के शिया मुसलमानों की आस्था का केंद्र है. यहां पर बड़ी संख्या में ईरान के अलावा इराक और पाकिस्तान के मुस्लिम जियारत करने आते हैं. बीमारी के खौफ से अब यहां पर लोगों का आना कम हो गया है.  

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay