एडवांस्ड सर्च

रेलवे ने दिया दिवाली गिफ्ट, 1 पैसे में 10 लाख का यात्रा बीमा

रेलवे ने त्योहारी सीजन को देखते हुए रेलयात्रियों को 1 पैसे में 10 लाख रुपये का रेल यात्रा बीमा देने का फैसला किया है. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन यानी आईआरसीटीसी के मुताबिक घटा हुआ प्रीमियम शुल्क शुक्रवार यानी 7 अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगा.

Advertisement
सिद्धार्थ तिवारी [Edited By: प्रियंका झा]नई दिल्ली, 07 October 2016
रेलवे ने दिया दिवाली गिफ्ट, 1 पैसे में 10 लाख का यात्रा बीमा त्योहारी सीजन में रेलवे का तोहफा

रेलवे ने त्योहारी सीजन को देखते हुए रेलयात्रियों को 1 पैसे में 10 लाख रुपये का रेल यात्रा बीमा देने का फैसला किया है. इंडियन रेलवे कैटरिंग एंड टूरिज्म कॉरपोरेशन यानी आईआरसीटीसी के मुताबिक घटा हुआ प्रीमियम शुल्क शुक्रवार यानी 7 अक्टूबर से प्रभावी हो जाएगा. 1 पैसे में 10 लाख रुपये का यात्रा बीमा 31 अक्टूबर, 2016 तक के लिए बुक किये गये सभी टिकटों के लिए दिया जाएगा. वैकल्पिक यात्रा बीमा योजना का चयन करने वाले रेल यात्रियों की बढ़ती संख्या से उत्साहित होकर, आईआरसीटीसी ने प्रीमियम राशि को 92 पैसे से कम करके 31 अक्टूबर तक के लिए एक पैसा कर दिया है.

आईआरसीटीसी के सीएमडी डॉ. एके मनोचा के मुताबिक आईआरसीटीसी ने तत्काल प्रभाव से वैकल्पिक यात्रा बीमा योजना के लिए कम कीमत को लागू करने का फैसला किया है. यात्रा बीमा की लोकप्रियता बढ़ाने के लिए आईआरसीटीसी ने ये कदम उठाया है. डॉ मनोचा के मुताबिक इस योजना से अधिक से अधिक रेल यात्रियों का लाभ मिलेगा और रेलयात्रियों के लिए ये एक दीवाली उपहार है. बीते 1 सितंबर को ऑनलाइन टिकट बुकिंग कराने वालों को 92 पैसे में 10 लाख रुपये का रेल यात्रा बीमा देने की वैकल्पिक योजना शुरु की गयी थी. डॉ मनोचा ने बताया कि गुरुवार को सुबह 8 बजे तक 1,20,87,625 रेल यात्रियों ने रेल यात्रा बीमा के लिए प्रीमियम चुकाया है.

रेल बजट 2016-17 में घोषित की गई इस सुविधा के तहत, यात्रा करने वाले यात्रियों को आईआरसीटीसी के पोर्टल पर एक ट्रेन टिकट बुक करने पर 10 लाख रुपये का बीमा कवर प्रदान किया जाता है. इस योजना के तहत, मृत्यु या स्थायी पूर्ण विकलांगता की स्थिति में यात्रियों को या उनके परिवारों को 10 लाख रुपये का मुआवजा प्रदान किया जाता है, स्थायी आंशिक विकलांगता होने पर 7.5 लाख रुपये, अस्पताल में भर्ती होने पर खर्च के 2 लाख रुपये, आतंकवादी हमलों, डकैती, दंगा, शूट आउट या आगजनी के साथ- साथ कम समय के लिए टर्मिनेशन, परिवर्तित मार्ग और विकल्प ट्रेनों सहित ट्रेन दुर्घटना या अन्य ‘अप्रिय घटना’ के कारण मौत होने या चोट पहुंचने पर मृतक को ले जाने के लिए 10,000 रुपये का मुआवजा दिये जाने का प्रावधान है.

यह सुविधा आईआरसीटीसी की वेबसाइट के माध्यम से उप नगरीय ट्रेनों को छोड़कर, किसी भी ट्रेन में और किसी भी क्लास में ई-टिकट बुक कराने वाले सभी यात्रियों के लिए उपलब्ध है. बीमा कवर सभी वर्गों के लिए उपलब्ध है और ई-टिकट बुकिंग के समय में एक चेकबॉक्स के माध्यम से विकल्प की सुविधा उपलब्ध है. यात्री के द्वारा बीमा को चुने जाने पर टिकट की राशि के साथ ही प्रीमियम राशि स्वतः ही जुड़ जाती है. टिकट बुकिंग और प्रीमियम के भुगतान के बाद, नामांकन विवरण पूरा होने पर एक संदेश प्रदर्शित किया जाता है, जो समय पर दावों का निपटान करने के लिए आवश्यक है. यह योजना आईसीआईसीआई लोम्बार्ड जनरल इंश्योरेंस, रॉयल सुंदरम और श्रीराम जनरल के साथ साझेदारी में आईआरसीटीसी के जरिए चलाई जा रही है. यात्री के द्वारा बीमा को चुनने के मामले में, दावा यात्री और बीमा कंपनी के बीच होगा. दुर्घटना के कारण मृत्यु के मामले में, बीमा राशि का 100 फीसदी भुगतान कंपनी करेगी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay