एडवांस्ड सर्च

भ्रष्टाचार के खिलाफ लडाई लड़ते रहे हैं प्रशांत भूषण

शांति भूषण के बेटे प्रशांत भूषण भी लोकतांत्रिक हक की लड़ाइयों के लिए देश भर में जाने जाते हैं. मानवाधिकार संगठन, पीयूसीएल से जुड़े प्रशांत भूषण अन्ना की टीम के अहम सदस्य हैं. पिता शांति भूषण की तरह प्रशांत भूषण भी न्यायपालिका में भ्रष्टाचार के खिलाफ लडाई लड़ते रहे हैं.

Advertisement
aajtak.in
आजतक वेब ब्‍यूरोनई दिल्‍ली, 18 August 2011
भ्रष्टाचार के खिलाफ लडाई लड़ते रहे हैं प्रशांत भूषण प्रशांत भूषण

शांति भूषण के बेटे प्रशांत भूषण भी लोकतांत्रिक हक की लड़ाइयों के लिए देश भर में जाने जाते हैं. मानवाधिकार संगठन, पीयूसीएल से जुड़े प्रशांत भूषण अन्ना की टीम के अहम सदस्य हैं. पिता शांति भूषण की तरह प्रशांत भूषण भी न्यायपालिका में भ्रष्टाचार के खिलाफ लडाई लड़ते रहे हैं. मेधा पाटकर के साथ नर्मदा बचाओ आंदोलन के लिए कानूनी जंग लड़ने वाले प्रशांत ने अन्ना के आंदोलन को देश के दूसरे आंदोलनों से जोड़ने काम किया है.

चाहे कोर्ट कचहरी की लड़ाई हो या फिर जनता के बीच आंदोलन की आंच तेज करना. प्रशांत हर जगह अन्ना के सबसे मजबूत सिपहसलाहकार बनकर उभरे हैं.

16 अगस्त को जब दिल्ली पुलिस ने मयूर विहार से अन्ना को गिरफ्तार किया था तब प्रशांत भूषण ने दो घंटे के अंदर ही इस गिरफ्तारी के खिलाफ सुप्रीम कोर्ट में अर्जी दाखिल कर दी थी. कहा जाता है कि तिहाड़ जेल के बाहर न जाने और जमानत से अन्ना के इनकार के पीछे शांति और प्रशांत भूषण का ही दिमाग है.

सरकार कानून का सहारा लेकर अन्ना को कब का पीछे धकेल देती लेकिन बाप-बेटे की जोड़ी ने अन्ना के आंदोलन को कानून की ऐसी ढाल पहनाई है जिसे भेद पाना किसी के वश में नहीं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay