एडवांस्ड सर्च

डेंगू वायरस की नई स्ट्रेन, तेजी से फैलेगा डेंगू

दिल्ली का ध्यान कॉमनवेल्थ गेम्स की तैयारियों पर है और डेंगू का मच्छर दिल्लीवासियों के लिए मौत का इंतजाम कर रहा है. दिल्ली में डेंगू मरीजों की संख्या रोज बढ़ रही है लेकिन खतरा यहीं खत्म होने वाला है, आपकी धड़कने बढ़ानेवाली खबर है कि डेंगू का वायरस मजबूत हो रहा है, उसकी पांचवीं स्ट्रेन तैयार हो रही है जिससे हमारे आपके शरीर का इम्यून सिस्टम लड़ नहीं पाएगा और तेजी से फैलेगा डेंगू.

Advertisement
आज तक ब्‍यूरोनई दिल्‍ली, 26 August 2010
डेंगू वायरस की नई स्ट्रेन, तेजी से फैलेगा डेंगू

दिल्ली का ध्यान कॉमनवेल्थ गेम्स की तैयारियों पर है और डेंगू का मच्छर दिल्लीवासियों के लिए मौत का इंतजाम कर रहा है. दिल्ली में डेंगू मरीजों की संख्या रोज बढ़ रही है लेकिन खतरा यहीं खत्म होने वाला है, आपकी धड़कने बढ़ानेवाली खबर है कि डेंगू का वायरस मजबूत हो रहा है, उसकी पांचवीं स्ट्रेन तैयार हो रही है जिससे हमारे आपके शरीर का इम्यून सिस्टम लड़ नहीं पाएगा और तेजी से फैलेगा डेंगू.

मच्छर आज दिल्ली में कईयों की मौत का कारण बन गया है. अस्पताल में सैंकड़ों मरीज खतरनाक डेंगू बीमारी के शिकार होकर भर्ती हैं और जिंदगी सलामत बख्शने के लिए दुआ मांग रहे हैं. लेकिन दिल्ली में अभी जो हालात हैं वह आगे आने वाले खतरे के आगे तो कुछ भी नहीं. असली खतरा तो आगे है.

जी हां देश के नामी अस्पताल ऑल इंडिया इस्टीस्टूयट ऑफ मेडिकल साइंसेंस यानी एम्स के माइक्रोबायोलॉजी विभाग की एक स्टडी से पता चला है कि डेंगू के मरीज दिल्ली और एनसीआर के तमाम अस्पतालों में भरे पड़े हैं. अस्पतालों के लिए डेंगू के मरीजों को बेड मुहैया कराना मुश्किल हो रहा है. पूरी दिल्ली में डेंगू के बढ़ते मामलों से हम आप डरे सहमे हैं लेकिन आगे आने वाले खतरे के आगे तो ये कुछ भी नहीं.

डेंगू फैलाने वाले वायरस स्वरुप बदल रहे हैं. जिससे डेंगू वायरस की नई स्ट्रेन पैदा हो सकती है और यह नई स्ट्रेन होगी पहले से काफी खतरनाक. इसके आगे हमारी प्रतिरोधी क्षमता भी होगी लाचार और इम्यून सिस्टम नई स्ट्रेन को नहीं मार पाएगा.

अभी डेंगू वायरस के चार स्ट्रेन मौजूद हैं. डेंगू वायरस का पांचवा स्ट्रेन ज्यादा शक्तिशाली होगा. यानी नई स्ट्रेन पैदा होते ही डेंगू और तेजी से फैलेगा. आज से कई गुणा ज्यादा संख्या में मरीज अस्पतालों में होंगे. स्टडी का मतलब साफ है अगर डेंगू फैलाने वाले मच्छरों का खात्मा नहीं हुआ. इसी तरह बढ़ते रहे डेंगू के वायरस तो तय है दिल्ली की तबाही.

यह जानकारी देने का मतलब ये नहीं कि आपके दिल में डर पैदा कर दे.मकसद यह हैं आपको वक्त रहते सचेत कर दें, आने वाले खतरे से आगाह कर दें. आज डेंगू ने जो दिल्ली की हालत कर रखी है और वह हमें आपको परेशान करने के लिए काफी है.

अस्पताल मरीजों से भरे पड़े हैं, मरीजों की संख्या लगातार बढ़ रही है. असलियत ये है कि मरीजों की तादाद सरकारी आंकड़ों से कहीं ज्यादा है. पिछले 24 घंटे में डेंगू के 54 नए मामले सामने आए हैं और सरकारी आंकड़ों के मुताबिक डेंगू मरीजों की संख्या 450 के पार हो चुकी है.

वैसे सरकारी आंकड़े कितने कम बताए जाते हैं वह हम आप भी अच्छी तरह जानते हैं.दिल्ली में डेंगू के कहर की हकीकत यह है कि मरीजों की संख्या सरकारी आंकड़ों से कहीं ज्यादा हो सकती है. दिल्ली और एनसीआर के तमाम अस्पतालों में भर्ती मरीजों की संख्या का अंदाजा इसी बात से लगाया जा सकता है कि कुछ इलाकों में अभी से मरीजों को अस्पताल में बेड की मुश्किल होने लगी है.

एक अनुमान के मुताबिक दिल्ली में डेंगू मरीजों का आंकड़ा 5000 के पार चुका है. विशेषज्ञों के मुताबिक सरकारी आंकड़े हकीकत से कोसो दूर हैं. क्योंकि सरकारी आंकड़ों में अनरजिस्टर्ड नर्सिंग होम्स में आए मरीज तो गिने ही नहीं जाते.

आंक़ड़े कम बताने से दिल्ली की हकीकत नहीं बदलेगी, डेंगू मरीजों की संख्या कम नहीं होगी, दिल्ली के लोगों के सिर से मौत का खतरा कम नहीं होगा लेकिन सरकारी कोशिश अब भी यही है कि हकीकत पर पर्दा डाल दो.

अगर प्राइवेट अस्पतालों में भर्ती मरीजों के सही आंकड़े सरकार तक पहुंचे और सरकार उसे तवज्जो दे तो भयावह स्थिति अपने आप सामने आ जाएगी. सरकार असली खतरे से आंखे मूंदे हुए है.

कॉमनवेल्थ गेम्स की तैयारियों में दिल्ली में जगह- जगह बने गड्ढो में पनपकर डेंगू के मच्छरों ने मौत के वायरस को पूरी दिल्ली में फैला दिया, कॉमनवेल्थ गेम्स को भी डंक मारने के इंतजार में है लेकिन सरकार की मंशा खतरे से अनजान बने रहने की है इसलिए जरुरत है कि आप ही सचेत हों और मच्छरों के खिलाफ मुहिम छेड़ दें.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay