एडवांस्ड सर्च

बुनियादी ढांचे के विकास पर जोर, आवंटन बढा

सरकार देश में बुनियादी ढांचे विशेषकर परिवहन सुविधाओं के विकास पर जोर देगी और अगले साल के आम बजट में इसके लिए 1,73,552 करोड़ रुपये की भारी भरकम राशि आवंटित की गई है.

Advertisement
भाषानई दिल्ली, 26 February 2010
बुनियादी ढांचे के विकास पर जोर, आवंटन बढा

सरकार देश में बुनियादी ढांचे विशेषकर परिवहन सुविधाओं के विकास पर जोर देगी और अगले साल के आम बजट में इसके लिए 1,73,552 करोड़ रुपये की भारी भरकम राशि आवंटित की गई है.

वित्तमंत्री प्रणव मुखर्जी ने आज लोकसभा में पेश आम बजट (2010-11) में यह घोषणा की. उन्होंने कहा कि देश के आर्थिक विकास की गति को बनाए रखने के लिए सड़कों, बंदरगाहों, हवाई अड्डों तथा रेल जैसी आधारभूत सुविधाओं का तेजी से विकास बहुत मायने रखता है.

उन्होंने घोषणा की कि बजट में बुनियादी ढांचे के विकास के लिए 1,73,552 करोड़ रुपये का प्रावधान किया गया है जो कुल आयोजना आवंटन का 46 फीसद से अधिक है. सरकार ने हर दिन 20 किलोमीटर की गति से राजमार्ग बनाने का लक्ष्य रखा है और सरकार ने सड़क परिवहन के लिए आवंटन को 13 प्रतिशत बढाकर 19,894 करोड़ रुपये करने का प्रस्ताव किया है.

मुखर्जी ने कहा कि बजट में रेलवे की सहायता के लिए 16,752 करोड़ रुपये के रिण का प्रस्ताव किया गया है ताकि रेल नेटवर्क के आधुनिकीकरण व विस्तार की अपेक्षाओं को पूरा किया जा सके. रेलवे को बजटीय सहायता में 950 करोड़ रुपये की बढोतरी का प्रस्ताव बजट में है.

सरकार ने बुनियादी ढांचा परियोजना को दीर्घकालिक सहायता उपलब्ध कराने के लिए आईआईएफसीएल की स्थापना की है जिसका समवितरण मार्च 2010 तक 9000 करोड़ रुपये तथा मार्च 2011 तक लगभग 20000 करोड़ रुपये रहने की उम्मीद है. मुखर्जी ने कहा कि इस वर्ष के लिए आधारभूत क्षेत्र की परियोजनाओं को बैंक ऋण उपलब्ध कराने के लिए इस कंपनी ने 3,000 करोड़ रुपये का पुनर्वित्तपोषण किया है जो 2011-12 में दोगुना होने की उम्मीद है.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay