एडवांस्ड सर्च

...तो बीजेपी में शामिल होंगे सौरव गांगुली

पिछले दिनों ये खबरें चर्चा में रही कि कैसे पहले वरुण गांधी के जरिए बीजेपी फिर कांग्रेस के राज्यसभा सासंद प्रदीप भट्टाचार्य अपनी-अपनी पार्टी की ओर से चुनाव लड़ने का आग्रह लेकर सौरव के पास पहुंचें. हालांकि, सौरव ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की और इसकी वजह से इस पर चर्चा का बाजार गर्म रहा. अब लगता है सौरव ने यह तय कर लिया है कि वो किस पार्टी के साथ अपनी राजनीतिक पारी की शुरुआत करेंगे.

Advertisement
aajtak.in
बायदुर्जो बोस [Edited by: अभिजीत श्रीवास्तव] 18 December 2013
...तो बीजेपी में शामिल होंगे सौरव गांगुली टीम इंडिया के पूर्व कप्तान सौरभ गांगुली

सौरव गांगुली पिछले कुछ दिनों से सुर्खियों में रहे हैं लेकिन यह क्रिकेट की वजह से नहीं है. पिछले दिनों ये खबरें चर्चा में रहीं कि कैसे पहले वरुण गांधी के जरिए बीजेपी, फिर कांग्रेस के राज्यसभा सासंद प्रदीप भट्टाचार्य अपनी पार्टी की ओर से चुनाव लड़ने का आग्रह लेकर सौरव के पास पहुंचें. हालांकि, सौरव ने इस पर कोई टिप्पणी नहीं की और इसकी वजह से इस पर चर्चा का बाजार गर्म रहा.

सौरव के एक करीबी सूत्र ने बताया कि इन दोनों राजनीतिक दलों के ऑफर के बावजूद अभी उनके किसी भी पार्टी में शामिल होने की कोई योजना नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘हां उन्हें दोनों पार्टियों ने ऑफर दिया है, लेकिन अभी वो पॉलिटिक्स में नहीं जाना चाहते हैं. मैं यह नहीं बता सकता कि ऐसा क्यों है. लेकिन, पिछले कुछ सालों में उन्हें देखकर तो लगता है कि अगर वो इस मामले में आगे जाना चाहेंगे और राजनीति में शामिल होते हैं तो उनकी कांग्रेस से ज्यादा बीजेपी में शामिल होने की संभावना है.’

करीबी सूत्र के मुताबित सौरव अब तक इस पर खामोश हैं क्योंकि वो बीजेपी नेता अरुण जेटली से मिलकर उन्हें स्वयं उन्हें बीजेपी में शामिल होने की बात से अवगत कराना चाहते हैं, वो नहीं चाहते कि ये बात उन्हें मीडिया से मिले.

देखा गया है कि गांगुली के परिवार का झुकाव वाम दल सीपीएम की तरफ रहा है लेकिन गांगुली की निष्ठा उनमें नहीं है. सूत्र ने जानकारी दी कि गांगुली का सीपीएम के प्रति नरम रुख है, यह गलत है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay