एडवांस्ड सर्च

कंफ्यूज्ड प्रोफेसर हैं धोनी, विराट कोहली को बनाओ कैप्टन: इयान चैपल

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल को लगता है कि महेंद्र सिंह धोनी की जगह विराट कोहली को भारत का टेस्ट कप्तान बना देना चाहिए क्योंकि वर्तमान कप्तान बेहद रक्षात्मक है और उनका दिमाग इस तरह से चल रहा है ‘मानो कोई भ्रमित प्रोफेसर बगीचे में टहल रहा हो.’

Advertisement
aajtak.in
भाषा [Edited By: पंकज विजय]नयी दिल्ली, 24 February 2014
कंफ्यूज्ड प्रोफेसर हैं धोनी, विराट कोहली को बनाओ कैप्टन: इयान चैपल

ऑस्ट्रेलिया के पूर्व कप्तान इयान चैपल को लगता है कि महेंद्र सिंह धोनी की जगह विराट कोहली को भारत का टेस्ट कप्तान बना देना चाहिए क्योंकि वर्तमान कप्तान बेहद रक्षात्मक है और उनका दिमाग इस तरह से चल रहा है ‘मानो कोई भ्रमित प्रोफेसर बगीचे में टहल रहा हो.’

चैपल ने न्यूजीलैंड के हालिया दौरे पर भारत के लचर प्रदर्शन के बाद कोहली को जल्द से जल्द कप्तान बनाने की बात कही है क्योंकि इस दौरे पर टीम किसी भी प्रारूप में एक भी जीत दर्ज नहीं कर सकी.

चैपल ने लिखा, ‘धोनी खेल के छोटे प्रारूप में शानदार कप्तान है और मध्यक्रम बल्लेबाज के तौर पर उसका प्रदर्शन शानदार है. लेकिन बतौर टेस्ट कप्तान वह बहुत जल्दी प्रतिक्रिया देता है और वह खेल को उस दिशा में ले जाता है जहां उसे खुद पता नहीं चलता कि आगे क्या करना है. उसकी स्थिति बगीचे में टहल रहे एक भ्रमित प्रोफेसर जैसी बन जाती है.’ उन्होंने न्यूजीलैंड के खिलाफ ड्रा हुए दूसरे मैच के बारे में कहा, ‘उसकी रूढ़िवादिता ने प्रतिद्वंद्वी टीम के बेहतरीन बल्लेबाजों को ज्यादा ही स्वतंत्रता दे दी और कई आसान रन दे दिये. इस बीच ब्रैंडन मैकुलम और बी जे वाटलिंग के बीच मैच बचाने वाली बड़ी साझेदारी बन गयी.’

चैपल ने कहा, ‘धोनी को सचमुच इंग्लैंड और ऑस्ट्रेलिया के 2011-12 में भारत के निराशाजनक दौरे के बाद हटा देना चाहिए था, जब उसकी टीम लगातार आठ मैच गंवा बैठी थी.’ चैपल ने कहा कि जब टीम मझदार में होती है तो धोनी रणनीति बनाने में नाकाम रहते हैं.

उन्होंने कहा, ‘जब कप्तान अपनी टीम को बाधा पहुंचाना शुरू कर दे, उसे बदलने की जरूरत होती है. इस खराब दौर में धोनी अपनी टीम को प्रेरित करने में असफल रहे और ऐसा लग रहा था कि जैसे कप्तान भावनाओं से गुजर रहा था. इसमें कोई शक नहीं कि एक कप्तान को ज्यादा लंबे समय तक रूकना चाहिए, उस समय तक जब तक उसकी टीम हारती है.’

चैपल ने कहा, ‘धोनी ने वापसी की जब उसने घरेलू मैदान पर ऑस्ट्रेलिया के खिलाफ वाइटवाश किया. इसमें कोई शक नहीं कि वह इस तरह की परिचित परिस्थितियों में बेहतर कप्तान है. वह नियमित रूप से स्पिनरों को लगाने में अपना सर्वश्रेष्ठ करता है, लेकिन हालात तेज गेंदबाजों के मुफिद होते हैं तो वह जूझता है.’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay