एडवांस्ड सर्च

पुणे पर चेन्नई की ‘सुपर’ जीत

सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धोनी की जिम्मेदारी भरी पारियों के बाद मोहित शर्मा की तूफानी गेंदबाजी से चेन्नई ने पुणे को 37 रन से हराकर लगातार छठी जीत दर्ज करते हुए टी-20 लीग 6 में शीर्ष पर अपनी स्थिति मजबूत कर ली.

Advertisement
भाषापुणे, 01 May 2013
पुणे पर चेन्नई की ‘सुपर’ जीत

सुरेश रैना और महेंद्र सिंह धोनी की जिम्मेदारी भरी पारियों के बाद मोहित शर्मा की तूफानी गेंदबाजी से चेन्नई ने पुणे को 37 रन से हराकर लगातार छठी जीत दर्ज करते हुए टी-20 लीग 6 में शीर्ष पर अपनी स्थिति मजबूत कर ली. पुणे की टीम की यह लगातार पांचवीं हार है.

चेन्‍नई ने रैना (नाबाद 63) और धोनी (नाबाद 45) की जिम्मेदारी भरी पारियों की मदद से तीन विकेट पर 164 रन का स्कोर खड़ा करने के बाद मोहित (21 रन पर तीन विकेट) की तूफानी गेंदबाजी से पुणे को नौ विकेट पर 127 रन पर रोक दिया. रैना ने 50 गेंद का सामना करते हुए पांच चौके और एक छक्का जड़ा जबकि धोनी ने सिर्फ 16 गेंद की अपनी पारी में तीन छक्के और चार चौके मारे. दोनों ने 4.3 ओवर में चौथे विकेट के लिए 61 रन की अटूट साझेदारी भी की.

पुणे की ओर से स्टीवन स्मिथ ने सर्वाधिक 35 रन बनाए जबकि केन रिचर्डसन ने 26 और भुवनेश्वर कुमार ने नाबाद 24 रन की पारी खेली. चेन्‍नई ने 10 मैचों में आठवीं जीत से कुल 16 अंक के साथ अपनी स्थिति मजबूत कर ली है जबकि इतने ही मैचों में आठवीं हार के बाद पुणे की टीम अंतिम स्थान पर बनी हुई है.

रोमांचक तथ्य यह है कि पुणे ने अपनी पिछली जीत 15 अप्रैल को चेन्‍नई को ही 24 रन से हराकर दर्ज की थी जबकि चेन्नई की टीम को पिछली शिकस्त इसी मैच में झेलनी पड़ी थी. मोहित ने लक्ष्य का पीछा करने उतरे पुणे के शीर्ष क्रम को ध्वस्त किया. इस तेज गेंदबाज ने अपने पहले ओवर में ही सलामी बल्लेबाज आरोन फिंच (15) और टीएल सुमन (00) को लगातार गेंदों पर पवेलियन भेजा.

ल्यूक राइट (02) और अभिषेक नायर (02) के रन आउट होने से पुणे की स्थिति और खराब हो गई. ल्यूक राइट दुर्भाग्यशाली रहे जबकि स्मिथ ने एल्बी मोर्कल पर सीधा शाट खेला और गेंदबाज के पैर से टकराने के बाद गेंद ने दूसरे छोर पर विकेट गिरा दिए. राइट क्रीज से बाहर खड़े थे.

नायर को स्मिथ को बचाने के लिए अपने विकेट का बलिदान देना पड़ा. रविचंद्रन अश्विन की गेंद नायर के बल्ले का किनारा लेकर लेग साइड पर गई और इस बीच स्मिथ रन लेने के लिए काफी आगे निकल आए. रन संभव नहीं था लेकिन स्मिथ को बचाने के लिए नायर ने क्रीज छोड़ दी और रन आउट हो गए.

स्मिथ भी इसके बाद रविंद्र जडेजा को उन्हीं की गेंद पर कैच दे बैठे जिससे पुणे की रही सही उम्मीद भी खत्म हो गई. पुणे को अंतिम पांच ओवर में 72 रन की जरूरत थी और उसके लिए यह लक्ष्य नामुमकिन साबित हुआ. रिचर्डसन और भुवनेश्वर ने कुछ अच्छे शाट खेले लेकिन यह टीम को हार से बचाने के लिए नाकाफी था.

ड्वेन ब्रावो ने किफायती गेंदबाजी करते हुए चार ओवर में 18 रन देकर एक विकेट हासिल किया जबकि जडेजा और मौरिस को भी एक-एक विकेट मिला. इससे पहले रैना ने उस समय एस बद्रीनाथ (34) के साथ तीसरे विकेट के लिए 75 रन जोड़कर चेन्नई को संभाला जब टीम 28 रन पर दो विकेट गंवा चुकी थी. साहा ने रिचर्डसन पर सीधा छक्का और चौका जड़कर अच्छी शुरुआत की लेकिन लेग स्पिनर राहुल शर्मा की गेंद को स्वीप करने की कोशिश में पगबाधा आउट हो गए.

रैना और बद्रीनाथ ने इसके बाद पारी को संभाला लेकिन दोनों ने शुरुआत में धीमी बल्लेबाज की. रैना ने भुवनेश्वर और नायर पर चौके जड़े. वह हालांकि 16 रन के निजी स्कोर पर भाग्यशाली रहे जब राइट ने उनका कैच छोड़ा. चेन्नई की टीम 10 ओवर में दो विकेट पर 55 रन ही बना पायी थी. बद्रीनाथ ने राहुल पर लगातार दो चौके मारे जबकि रैना ने भी रिचर्डसन पर मिड विकेट के ऊपर से छक्का जड़कर रन गति बढ़ाने की कोशिश की.

बद्रीनाथ इसके बाद राइट की गेंद को उठाकर मारने की कोशिश में लांग आफ पर स्मिथ को आसान कैच दे बैठे. उन्होंने 31 गेंद का सामना करते हुए दो चौके मारे. कप्तान धोनी ने क्रीज पर उतरते ही राइट की लगातार गेंदों पर चौका और छक्का जड़कर अपने इरादे जाहिर किए जबकि रैना ने रिचर्डसन की गेंद पर एक रन के साथ 42 गेंद में टी-20 लीग 6 का अपना दूसरा अर्धशतक पूरा किया.

धोनी ने इसके बाद डिंडा के अंतिम दो ओवरों में दो चौके और दो छक्के जड़कर टीम को मजबूत स्कोर तक पहुंचाया. उनकी तूफानी पारी की मदद से चेन्‍नई ने अंतिम आठ ओवर में 96 रन बटोरे.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
  • Aajtak Android App
  • Aajtak Android IOS
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay