एडवांस्ड सर्च

लोगों को अब मुझे गूगल पर नहीं ढूंढ़ना पड़ेगा: विजय

लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता निशानेबाज विजय कुमार ने कहा कि उनकी उपलब्धि ने उन्हें वह पहचान दिला दी है जो अतीत में अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद उन्हें नहीं मिली थी.

Advertisement
आजतक ब्यूरो/भाषानई दिल्ली, 19 August 2012
लोगों को अब मुझे गूगल पर नहीं ढूंढ़ना पड़ेगा: विजय विजय कुमार

लंदन ओलंपिक के रजत पदक विजेता निशानेबाज विजय कुमार ने कहा कि उनकी उपलब्धि ने उन्हें वह पहचान दिला दी है जो अतीत में अन्य अंतरराष्ट्रीय प्रतियोगिताओं में अच्छे प्रदर्शन के बावजूद उन्हें नहीं मिली थी.

इस निशानेबाज को लंदन खेलों के कांस्य पदक विजेता पहलवान योगेश्वर दत्त सहित देश के सर्वोच्च खेल पुरस्कार राजीव गांधी खेल रत्न के लिए नामांकित किया गया.

पच्चीस मीटर रैपिड फाइल पिस्टल स्पर्धा में रजत पदक जीतने वाले विजय ने कहा, ‘लोगों को अब मेरे बारे में जानकारी लेने के लिए गूगल पर नहीं ढूंढना होगा. अचानक दुनिया मुझे पहचानने लगती है, वे सोच रहे हैं कोई विजय कुमार है, वह कुछ तो है.’

विजय ने कहा, ‘मैंने लंदन से हिमाचल प्रदेश के मुख्यमंत्री प्रेम कुमार धूमल से बात की थी और उन्होंने मेरे नामांकन को आगे बढ़ाया. अब दुनिया ने मेरे उपर गौर किया है क्योंकि यह मेरे करियर की सबसे बड़ी उपलब्धि है. इससे पहले भी मैंने कई पदक जीते. सम्मानित होकर मैं खुश हूं.’

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay