एडवांस्ड सर्च

जिम्बाब्वे से हिसाब चुकाना चाहेगी टीम इंडिया, विराट की परीक्षा

टीम इंडिया और जिम्‍बाब्‍वे के बीच वनडे सीरीज का पहला मैच हरारे में होने जा रहा है. मैच रोमांचक होने की उम्‍मीद की जा रही है.

Advertisement
aajtak.in
आईएएनएस [Edited By: अमरेश सौरभ]हरारे, 24 July 2013
जिम्बाब्वे से हिसाब चुकाना चाहेगी टीम इंडिया, विराट की परीक्षा टीम इंडिया

टीम इंडिया और जिम्‍बाब्‍वे के बीच वनडे सीरीज का पहला मैच हरारे में होने जा रहा है. मैच रोमांचक होने की उम्‍मीद की जा रही है.

जिम्बाब्वे दौरे पर 5 एकदिवसीय मैचों की सीरीज खेलने पहुंची युवा खिलाड़ियों से लैस भारतीय टीम जब बुधवार को पहला मैच खेलने उतरेगी, तो उसका उद्देश्य न सिर्फ अपेक्षाकृत कमजोर जिम्बाब्वे की टीम को 5-0 से मात देना रहेगा, बल्कि वह तीन वर्ष पहले जिम्बाब्वे दौरे पर मिली हार का बदला भी चुकाना चाहेगी.

पिछले जिम्बाब्वे दौरे पर भी सुरेश रैना की कप्तानी में दूसरी पंक्ति के युवा खिलाड़ियों वाली थोड़ी कमजोर भारतीय टीम त्रिकोणीय सीरीज में जिम्बाब्वे के हाथों दोनों मैच हारकर सीरीज से बाहर हो गई थी.

जिम्बाब्वे की टीम हालांकि वर्तमान समय में उतनी ताकतवर नहीं रह गई है, लेकिन जिम्बाब्वे क्रिकेट टीम के कोच एंडी वॉलर ने कहा है कि उनकी टीम भी भारत को चौंकाने की क्षमता रखती है और वह बुधवार से शुरू ही रही पांच मैचों की श्रृंखला के कम से कम एक मैच में तो ऐसा जरूर करके दिखाएगी.

भारतीय टीम में जिम्बाब्वे दौरे के लिए पांच नए खिलाड़ियों का चुनाव किया गया है, जिनमें तीन खिलाड़ियों के लिए यह दौरा अंतर्राष्ट्रीय करियर का आगाज करेगा. दौरे के लिए नियुक्त कार्यकारी कप्तान विराट कोहली के लिए भी यह दौरा परीक्षा के समान तो होगा ही. हाल ही में वेस्टइंडीज दौरे पर त्रिकोणीय सीरीज के दौरान मिली कप्तानी कोहली के लिए कुछ खास नहीं रही थी.

भारतीय टीम की बल्लेबाजी की कमान रोहित शर्मा, शिखर धवन, कोहली और सुरेश रैना के कंधों पर होगी. शर्मा और धवन की सलामी जोड़ी हाल ही में संपन्न हुए आईसीसी चैम्पियंस ट्रॉफी से ही बेहतरीन फॉर्म में चल रही है.

मध्यक्रम की जिम्मेदारी चेतेश्वर पुजारा, अंबाती रायडू, दिनेश कार्तिक तथा रविंद्र पुजारा पर होगी.

भारतीय टीम के लिए इस दौरे पर सबसे बड़ी चुनौती गेंदबाजी में होगी, क्योंकि इस दौरे पर कोई भी नियमित तेज गेंदबाज नहीं गया है. भुवनेश्वर कुमार, ईशांत शर्मा और उमेश यादव सहित स्पिन गेंदबाज रविचंद्रन अश्विन को इस दौरे से आराम दिया गया है.

अनुभवी स्पिन गेंदबाज अमित मिश्रा के साथ स्पिन अटैक के लिए पहली बार जम्मू एवं कश्मीर से चुनकर आए परवेज रसूल के खेल पर पूरे देश के प्रशंसकों एवं चयनकर्ताओं की निगाह है. तेज गेंदबाजी की कमान शमी अहमद, विनय कुमार, मोहित शर्मा तथा जयदेव उनादकट के हाथ में होगी.

दूसरी तरफ जिम्बाब्वे की पूरी तरह फिट मुख्य टीम मैच में हिस्सा लेगी, हालांकि वॉलर ने कहा कि रे प्राइस का पहले मैच में हिस्सा लेना संदिग्ध है.

भारत की ताकत जहां उसकी बल्लेबाजी होगी वहीं जिम्बाब्वे की ताकत उसके गेंदबाजी आक्रमण में होगी.

दोनों टीमों के आंकड़ों पर नजर डाली जाए तो कुछएक बार भारत को चौंकाने के अतिरिक्त जिम्बाब्वे 1983 के बाद से अब तक भारत के साथ हुए कुल 51 एकदिवसीय मैचों में से मात्र 10 मैच ही जीत सकी है.

जिम्बाब्वे के वर्तमान बल्लेबाजों में सबसे अनुभवी कप्तान टेलर का रिकॉर्ड भारत के खिलाफ सबसे बेहतर है. दूसरी तरफ रोहित-धवन जिम्बाब्वे के लिए सबसे कठिन चुनौती साबित हो सकते हैं.

टीमें-
भारत:
विराट कोहली (कप्तान), दिनेश कार्तिक (विकेटकीपर), रोहित शर्मा, शिखर धवन, सुरेश रैना, रविंद्र जडेजा, चेतेश्वर पुजारा, अजिंक्य रहाणे, अंबाती रायडू, अमित मिश्रा, परवेज रसूल, शमी अहमद, विनय कुमार, जयदेव उनादकट तथा मोहित शर्मा.

जिम्बाब्वे: ब्रेंडन टेलर (कप्तान/विकेटकीपर), सिकंदर रजा, तेंदई चतारा, माइकल चिनोया, एल्टन चिगुंबरा, ग्रीम क्रेमर, टिमिसेन मरूमा, हैमिल्टन मसाकाद्जा, नसाई सांग्वे, टिनोटेंडा मोटुंबोजी, वूसिमूजी सिबांडा, प्रास्पर उत्सेया, ब्रायन विटोरी, मैल्कम वॉलर और सीन विलियम्स.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay