एडवांस्ड सर्च

श्रीश्री रविशंकर बोले- नोटबंदी देश की जरूरत थी, फैसला साहसिक

अध्यात्मिक गुरू श्रीश्री रविशंकर ने कहा कि लंबे समय के बाद हमें नरेंद्र मोदी के रूप में एक मजबूत नेता मिला है. प्रधानमंत्री देश हित में महत्वपूर्ण और जरूरी कदम उठा रहे हैं. नोटबंदी से देश की जरूरत थी, जिसके कार्यान्वयन में बहुत सुधार हुआ है

Advertisement
aajtak.in [Edited by: कुबूल अहमद]नई दिल्ली, 10 November 2017
श्रीश्री रविशंकर बोले- नोटबंदी देश की जरूरत थी, फैसला साहसिक प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ श्रीश्री रविशंकर

अध्यात्मिक गुरू श्रीश्री रविशंकर ने कहा है कि लंबे समय के बाद हमें नरेंद्र मोदी के रूप में एक मजबूत नेता मिला है. प्रधानमंत्री देश हित में महत्वपूर्ण और जरूरी कदम उठा रहे हैं. नोटबंदी से देश की जरूरत थी, जिसके कार्यान्वयन में बहुत सुधार हुआ है. व्यवसाय वास्तव में नीचे हैं और अच्छी भावना में नहीं हैं, लेकिन अब आत्मा को ऊपर आना होगा, मुझे यकीन है आने वाले दिनों बेहतर होगा.

बात दे कि नरेंद्र मोदी ने 8 नवंबर 2016 के रात 8 बजे 1000 और पांच सौ के नोटबंद करने का बड़ा ऐलान किया था. नोटबंदी के एक साल पूरे हो गए हैं. ऐसे में श्रीश्री रविशंकर ने नरेंद्र मोदी के फैसलों को देश की जरूरत बता है. इतना ही नहीं उन्होंने कहा कि नरेंद्र मोदी रूप में देश को एक मजबूत नेता मिला है, जो लगातार देश हित में कदम उठा रहे हैं.

गौरतलब है कि श्रीश्री रविशंकर ने पिछल दिनों ने अयोध्या में राममंदिर मामले के समझौते के लिए मध्यस्थता करने की बात कही थी. उन्होंने ये भी कहा था कि इस मामले में मुस्लिम समुदाय के कुछ लोगों ने उनसे मुलाकात करके मध्यस्थता करने की बात कही थी.

इसके बाद मुस्लिम पर्सनल बोर्ड ने उनसे मुलाकात की बात को इनकार किया था, लेकिन एक फोटो जारी हुआ था, जिसमें बोर्ड के सदस्य निर्मोही अखाड़ा के लोग साथ में श्रीश्री रविशंकर के साथ खड़े नजर आ रहे है. इसके बाद शिया सेंट्रल वक्फ बोर्ड के अध्यक्ष वसीम रिजवी ने बैंगलुरू जाकर मुलाकात करके अयोध्या में राममंदिर मामले को सुलझाने की बात कही थी.

Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay