एडवांस्ड सर्च

राजीव की याद में यूथ कांग्रेस के मंच से बीजेपी पर हमले की तैयारी

पूर्व पीएम राजीव गांधी की 25वीं पुण्यतिथि मनाने की तैयारी में यूथ कांग्रेस है. दरअसल हाल में गांधी परिवार पर हुए हमलों के बाद राजीव गांधी के बलिदान को बड़े पैमाने पर याद करके सहानुभूति बटोरने की ये कोशिश है.

Advertisement
कुमार विक्रांत [Edited By: अमित कुमार दुबे]नई दिल्ली, 20 May 2016
राजीव की याद में यूथ कांग्रेस के मंच से बीजेपी पर हमले की तैयारी

हम में हैं राजीव... इसी थीम पर पूर्व पीएम राजीव गांधी की 25वीं पुण्यतिथि मनाने की तैयारी यूथ कांग्रेस ने की है. दरअसल हाल में गांधी परिवार पर हुए हमलों के बाद राजीव गांधी के बलिदान को बड़े पैमाने पर याद करके सहानुभूति बटोरने की ये कोशिश है. इस कार्यक्रम में देश भर से आये यूथ कांग्रेस के नेताओं को कांग्रेस के बड़े नेता संबोधित करेंगे.

सोनिया-राहुल भी होंगे कार्यक्रम में मौजूद
इस बड़े कार्यक्रम में कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी भी शिरकत करेंगी. राहुल गांधी फिलहाल निमोनिया से पीड़ित चल रहे हैं. लेकिन उम्मीद की जा रही है कि वो भी इस कार्यक्रम में होंगे. इंदिरा गांधी इनडोर स्टेडियम में होने वाले इस कार्यक्रम का शुरुआत शीला दीक्षित करेंगी. इस कार्यक्रम में राजीव गांधी के बलिदान और विजन के जरिये सीधे मोदी सरकार को निशाने पर रखा जाएगा. सोनिया-राहुल समेत तमाम बड़े नेताओं के भाषण इसी लिहाज से होने वाले हैं.

राजीव के जरिये मोदी पर हमले की तैयारी के संभावित अंश:
1. राजीव गांधी के सूचना और तकनीकी क्षेत्र में योगदान को याद करके बताया जाएगा कि जो काम राजीव गांधी ने शुरू किया, उसका श्रेय लेकर मोदी सरकार सिर्फ वाहवाही बटोरने में जुटी है.
2. याद दिलाया जाएगा कि पंचायती राज राजीव गांधी का सपना था और वो इसको लाने वाले थे, जबकि बीजेपी ने इस क्षेत्र में कुछ नहीं किया और न ही आज की सरकार कुछ कर रही है.
3. नेताओं के तीखे भाषणों में जिक्र होगा कि कैसे जब राजीव गांधी कंप्यूटर लाये तो उनका तत्कालीन बीजेपी ने जमकर विरोध किया और आज राजीव गांधी के ही कदमों पर आगे बढ़ रहे हैं, लेकिन पीठ अपनी थपथपा रहे हैं.
4. इसके साथ ही विदेश नीति और पीएम के विदेश दौरों को लेकर भी कांग्रेसी नेता हमलावर होंगे. ये बताने की तैयारी है कि राजीव गांधी पीएम रहते विदेशों में काफी लोकप्रिय थे. लेकिन आज के पीएम की तरह वो अपना प्रचार नहीं करते थे.
5. राजीव को युवाओं का असली खैरख्वाह बताते हुए मतदान की उम्र 21 से 18 साल करने का भी जिक्र होगा.

दरअसल कांग्रेस इसके जरिये मोदी सरकार की दो बातों का जवाब देना चाहती है. पहला ये कि 60 सालों में कुछ नहीं हुआ और दूसरा ये कि ये धारणा टूटे कि विकास का हर काम मानो अब पहली बार हो रहा है. इसके साथ ही राजीव गांधी के बलिदान का इमोशनल कार्ड भी होगा, जहां बीजेपी को सवालों के घेरे में खड़ा किया जाएगा कि आखिर बीजेपी के किस नेता ने राजीव की तरह जान दी.

राजबब्बर की आवाज में कार्यकर्ताओं में जोश भरने की तैयारी
राजीव गांधी के जरिये युवाओं को जोड़ने के लिए उनकी उपलब्धियों को गिनाते हुए कार्यक्रम में उनके नाम पर एक शपथ का कार्यक्रम भी होगा. दिलचस्प है कि शपथ दिलाने के लिए एक्टर से नेता बने राजबब्बर की आवाज रिकॉर्ड करा ली गई है. साथ ही युवाओं में जोश भरने के लिए 'राजीव हो' नाम से एक गाना भी तैयार कराया जा रहा है, जिसको जाने माने पंजाबी म्यूजिक डायरेक्टर कर रहे हैं. ये गाना इस कार्यक्रम का खास आकर्षण होगा.

रात में मशाल मार्च की भी तैयारी
सुबह विजय स्थल पर दी जाने वाली श्रद्धांजलि के साथ ही रात आठ बजे के बाद राजीव गांधी के समाधि स्थल पर सोनिया, राहुल और मनमोहन समेत कांग्रेस के तमाम बड़े नेता मौजूद रहेंगे. वहां से मशाल मार्च निकाला जायेगा. वहीं एक छोटी प्रार्थना भी होगी, ये कार्यक्रम राजीव गांधी के 25वें बलिदान दिवस पर खास आयोजित किया जा रहा है.

कुल मिलाकर 4 राज्यों की करारी शिकस्त और बीजेपी के कांग्रेस मुक्त भारत के सपने के बीच ये कांग्रेस का पहला ग्रैंड शो होगा और सोनिया-राहुल खुद मीडिया से मुखातिब होंगे. आखिर दोनों के सामने बड़ी चुनौती मोदी सरकार से टकराने के साथ ही अपने कार्यकर्ताओं में ऊर्जा भरने की भी है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay