एडवांस्ड सर्च

Advertisement

कश्मीर, हिमाचल में भारी बर्फबारी का अलर्ट

मौसम विभाग ने जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में 25 और 26 अक्टूबर को अत्यधिक बर्फबारी की चेतावनी जारी की है. इसकी वजह 24 तारीख से उत्तर भारत में दाखिल हो रहा एक ताकतवर वेस्टर्न डिस्टर्बेंस माना जा रहा है. इसके प्रभाव के चलते दोनों राज्यों में जोरदार बारिश और भारी बर्फबारी की आशंका बन गई है.
कश्मीर, हिमाचल में भारी बर्फबारी का अलर्ट
सिद्धार्थ [Edited By: ब्रजेश मिश्र]नई दिल्ली, 24 October 2015

मौसम विभाग ने जम्मू-कश्मीर और हिमाचल प्रदेश में 25 और 26 अक्टूबर को अत्यधिक बर्फबारी की चेतावनी जारी की है. इसकी वजह 24 तारीख से उत्तर भारत में दाखिल हो रहा एक ताकतवर वेस्टर्न डिस्टर्बेंस माना जा रहा है. इसके प्रभाव के चलते दोनों राज्यों में जोरदार बारिश और भारी बर्फबारी की आशंका बन गई है.

ऐसा अनुमान है कि 24 तारीख को जम्मू-कश्मीर में घने बादलों की आवाजाही के बीच मौसम करवट लेगा और बारिश-बर्फबारी का सिलसिला शुरू हो जाएगा. बारिश-बर्फबारी का ये दौर हिमाचल में भी दस्तक देगा.

ज्यादातर इलाकों में बारिश की संभावना
नई दिल्ली स्थित मौसम विभाग के डायरेक्टर बीपी यादव के मुताबिक, जम्मू-कश्मीर में 24 से लेकर 26 अक्टूबर तक ज्यादातर जगहों पर जोरदार बारिश का पूर्वानुमान है. यहां पर 3500 मीटर या इससे ज्यादा ऊंचाई वाली ज्यादातर जगहों पर भारी बर्फबारी होने की पूरी संभावना है. वहीं, हिमाचल प्रदेश में 25 और 26 तारीख को ऊंचाई वाली जगहों और जनजातीय इलाकों में भारी से बहुत भारी बर्फबारी की आशंका है. इसके अलावा ज्यादातर जगहों पर बारिश संभावना है.

मौसम विभाग का कहना है कि वेस्टर्न डिस्टर्बेंस ताकतवर है और इसमें अरब सागर से आने वाली नमी भी मिलेगी. इस वजह से उत्तर-पश्चिम भारत के ज्यादातर मैदानी इलाकों में मौसम बदल जाएगा.

पहाड़ी इलाकों में बर्फबारी का अलर्ट
पहाड़ी इलाकों में जोरदार बर्फबारी के अलर्ट के साथ मैदानी इलाकों में भी बादलों की धमाचौकड़ी की पूरी संभावना है. मौसम विभाग के मुताबिक जिस समय ये वेदर सिस्टम जम्मू-कश्मीर में दाखिल होगा उसी समय राजस्थान के ऊपर एक साइक्लोनिक सर्कुलेशन बन जाएगा जो डब्ल्यूडी को पहाड़ों से खींचकर मैदानों की तरफ ले आएगा. इस वजह से दिल्ली-एनसीआर के तमाम इलाकों में मौसम बदल जाएगा.

इन तीन राज्यों में भी होगा असर
24 अक्तूबर को राजस्थान, पंजाब और हरियाणा में बादलों की आवाजाही बनेगी और यहां ज्यादातर इलाकों में बारिश की संभावना बन जाएगी. 25 तारीख तक ये वेदर सिस्टम दिल्ली एनसीआर और पश्चिमी उत्तर प्रदेश में अपना असर दिखाने लगेगा. इससे दिन के तापमान में गिरावट हो जाएगी और बारिश होने की वजह से लोगों को 25 और 26 अक्टूबर को ठंड की पहली झलक मिल जाएगी. मैदानी इलाकों में 24 अक्तूबर से लेकर 26 अक्तूबर तक दो से तीन सेमी. की बारिश की संभावना बताई जा रही है.

दिल्ली में भी हो सकती है बारिश
मौसम विभाग के डीडीजीएम ए.के. शर्मा ने बताया कि राजधानी दिल्ली में 25 और 26 अक्टूबर को बादल छाने की वजह दिन के तापमान में भी गिरावट देखी जाएगी. इस बात की खासी संभावना है कि राजधानी दिल्ली में 25 या 26 अक्टूबर को बारिश हो सकती है.

पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay