एडवांस्ड सर्च

बवाल बढ़ने पर बोले AIMIM के वारिस पठान, वापस लेता हूं अपनी बात

विवाद बढ़ने के बाद AIMIM के वारिस पठान ने अपनी विवादित टिप्पणी को वापस लेने का ऐलान कर दिया. उन्होंने कहा कि हमारे बीच राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं. मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया. मैं अपनी बात वापस लेता हूं.

Advertisement
aajtak.in
मुस्तफा शेख मुंबई, 23 February 2020
बवाल बढ़ने पर बोले AIMIM के वारिस पठान, वापस लेता हूं अपनी बात AIMIM के वारिस पठान ने वापस लिया बयान

  • मुझे हिंदू विरोधी बताया जा रहाः वारिस

  • 'मैं किसी भी हिंदू भाइयों के खिलाफ नहीं'

'100 करोड़ लोगों पर भारी पड़ेंगे 15 करोड़' वाले बयान पर बवाल बढ़ने के बाद, ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिमीन (AIMIM) के प्रवक्ता वारिस पठान ने अपने बयान पर सफाई देते हुए कहा कि मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया. मैं अपनी बात वापस लेता हूं.

मीडिया से बात करते हुए वारिस पठान ने कहा, 'पिछले कुछ दिनों से मुझे हिंदू धर्म विरोधी बताया जा रहा है. मैं किसी भी हिंदू भाइयों के खिलाफ नहीं हूं. मैंने उस दिन जो कुछ भी कहा वो नागरकिता कानून के खिलाफ गुस्से में कहा.'

उन्होंने आगे कहा कि पिछले ढाई महीने से झांसी की रानी की तरह, महिलाएं इस कानून के खिलाफ प्रदर्शन कर रही हैं. मुझे भारतवासी होने पर गर्व है और मैं सच्चा भारतीय मुस्लिम हूं.

वारिस पठान ने आगे कहा कि हमारे बीच राजनीतिक मतभेद हो सकते हैं. मेरे बयान का गलत मतलब निकाला गया. मैं अपनी बात वापस लेता हूं. जिसके बाद महाराष्ट्र इकाई के अध्यक्ष और औरंगाबाद के लोकसभा सदस्य इम्तियाज जलील ने कहा कि अब मुद्दा यहीं खत्म होता है.

इससे पहले इम्तियाज जलील ने कहा था कि हमारी पार्टी वारिस पठान के बयान का समर्थन नहीं करती. पार्टी उनसे बयान पर स्पष्टीकरण मांगेगी.

किस बयान पर है विवाद

इससे पहले वारिस पठान ने कर्नाटक के गुलबर्ग में एक जनसभा को संबोधित करते हुए कहा था, 'हमने ईंट का जवाब पत्थर से देना सीख लिया है. मगर हमको इकट्ठा होकर चलना पड़ेगा. आजादी लेनी पड़ेगी और जो चीज मांगने से नहीं मिलती है, उसको छीन लिया जाता है.'

वारिस ने आगे कहा, 'हमको कहा जा रहा है कि हमने अपनी मां और बहनों को आगे भेज दिया है. हम कहते हैं कि अभी सिर्फ शेरनियां बाहर निकली हैं, तो आपके पसीने छूट गए. अगर हम सब साथ में आ गए, तो सोच लो क्या होगा. हम 15 करोड़ ही 100 करोड़ लोगों पर भारी हैं. यह बात याद रख लेना.'

और पढ़ें- मुस्लिम संगठन का ऐलान- वारिस पठान का सिर कलम करने पर 11 लाख का इनामबीजेपी ने साधा निशाना

कौन सी आजादी चाहिएः संबित पात्रा

वारिस के इस बयान के बाद बीजेपी प्रवक्ता संबित पात्रा ने हमलावर अंदाज में कहा था कि एआईएमआईएम नेता वारिस का विवादास्पद बयान यह दर्शाता है कि संशोधित नागरिकता कानून (सीएए) के विरोध के नाम पर साजिश और घृणा की राजनीति चल रही है.

पात्रा ने कहा कि ओवैसी की पार्टी के कद्दावर नेता वारिस पठान कहते हैं कि हम छीन कर लेंगे आजादी. पात्रा ने कहा, 'मैं इन तथाकथित लिबरल से पूछना चाहता हूं कि कौन सी आजादी चाहिए, किससे आजादी चाहिए?'

बीजेपी प्रवक्ता ने आरोप लगाया कि जब मंच के पीछे पाकिस्तान को ऑक्सीजन देने की बात होती है और मंच के आगे संविधान, तिरंगा पकड़ने का नाटक किया जाता है तो कभी-कभी हकीकत मुंह से निकल जाती है.

उन्होंने कहा कि ऐसे में ही कल ओवैसी के मंच पर पाकिस्तान जिंदाबाद के नारे लगे हैं. ये सारे लोग हमारे मुस्लिम भाइयों को बरगला रहे हैं, भ्रमित कर रहे हैं.

और पढ़ें- वारिस पठान का भड़काऊ बयान, कहा- हम 15 करोड़ 'मुस्लिम' 100 करोड़ लोगों पर भारी

एआईएमआईएम BJP की 'बी टीम'

इस प्रकरण पर महाराष्ट्र के मंत्री बालासाहेब थोराट ने शुक्रवार को कहा कि एआईएमआईएम बीजेपी की 'बी टीम' है. थोराट ने कहा, 'एआईएमआईएम बीजेपी की ‘बी टीम' है. वे सीएए और एनआरसी पर समाज को बांटने में असफल रहे, इसलिए वे इस प्रकार के बयान दे रहे हैं.'

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay