एडवांस्ड सर्च

वर्धा के सबसे बड़े हथियार डिपो में 2 साल पहले हुआ था धमाका, 17 की हुई थी मौत

दो साल पहले की घटना में 2 सैन्य अधिकारियों समेत 17 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई थी. विस्फोटकों की आग कई शेड में फैल गई थी जहां हथियार, बम और अन्य विस्फोटक रखे गए थे.

Advertisement
aajtak.in
रविकांत सिंह वर्धा, 20 November 2018
वर्धा के सबसे बड़े हथियार डिपो में 2 साल पहले हुआ था धमाका, 17 की हुई थी मौत प्रतीकात्मक तस्वीर (इंडिया टुडे आर्काइव)

महाराष्ट्र के पुलगांव स्थित केंद्रीय आयुध डिपो में मंगलवार सुबह धमाका होने से 4 लोगों की मौत हो गई और 6 से ज्यादा लोग घायल हो गए. यहां ऐसी ही घटना दो साल पहले भी हुई थी, जिसमें 2 सैन्य अफसरों समेत 17 सुरक्षाकर्मियों की मौत हो गई थी.

पुलगांव आयुध डिपो देश का सबसे बड़ा डिपो है. 2016 की घटना में आग कई शेडों में फैल गई जहां हथियार, बम और अन्य विस्फोटक रखे गए थे. आसपास के गांवों के लोगों को वहां से बाहर निकाला गया और घायल सुरक्षाकर्मियों को बाहर निकालने में मदद के लिए सेना के हेलीकॉप्टर लगाए गए.

मंगलवार की घटना के बारे में जो शुरुआती रिपोर्ट आई है उसके मुताबिक वर्धा जिले के पुलगांव डिपो में खमरिया हथियार डिपो के स्टाफ पुराने और बेकार विस्फोटकों को हटा रहे थे. इसी दौरान धमाका हो गया. वर्धा के जिलाधिकारी ने इंडिया टुडे को बताया कि धमाका सीएडी के बाहर हुआ, इसलिए आग ज्यादा फैलने की आशंका नहीं है. आपदा प्रबंधन टीम को काम पर लगा दिया गया है और जख्मी लोगों का इलाज शुरू कर दिया गया है.

जानकारी के मुताबिक वर्धा फायरिंग रेंज में यह घटना हुई. जबलपुर खमरिया हथियार डिपो के स्टाफ बेकार विस्फोटकों को नष्ट करने के लिए बम डिस्पोजल रेंज में बुलाए गए थे. उनके काम के दौरान सुबह 8 बजे धमाका हो गया. अब तक 4 लोगों की मौत के अलावा आसपास के कई गांवों में अफरा-तफरी का माहौल है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay