एडवांस्ड सर्च

अयोध्या पर फैसले से पहले बोले CM योगी- कानून से खिलवाड़ पर होगा एक्शन

अयोध्या पर फैसले से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शांति की अपील की है. उन्होंने अफवाहों पर गौर न करने देने की अपील की है. साथ ही उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी प्रशासन की है ऐसे में किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने नहीं दिया जाएगा.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in 08 November 2019
अयोध्या पर फैसले से पहले बोले CM योगी- कानून से खिलवाड़ पर होगा एक्शन उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ

  • सीएम योगी ने फैसले से पहले बुलाई हाई लेवल मीटिंग
  • डीजीपी बोले- कानून व्यवस्था को लेकर पुलिस तैयार

अयोध्या पर फैसले से पहले उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शांति की अपील की है. उन्होंने अफवाहों पर गौर न करने देने की अपील की है. इसके साथ ही उन्होंने कहा कि कानून व्यवस्था बनाए रखने की जिम्मेदारी प्रशासन की है. ऐसे में किसी को भी कानून अपने हाथ में लेने नहीं दिया जाएगा.

वहीं, अयोध्या पर फैसले से पहले मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने हाई लेवल बैठक बुलाई है. सीएम योगी ने तैयारियों को लेकर सूबे के मुख्य सचिव, डीजीपी और शिक्षा विभागों के प्रमुख को बैठक में बुलाया गया है. इससे पहले यूपी के डीजीपी ओम प्रकाश सिंह ने अयोध्या पर फैसले के मद्देनजर तैयारियों को लेकर आजतक से खास बातचीत की.

इसे भी पढ़िएः अयोध्या मामले में सुप्रीम कोर्ट कल सुबह 10.30 बजे सुनाएगा फैसला

ओम प्रकाश सिंह ने कहा कि यूपी पुलिस ने कानून व्यवस्था बनाए रखने के लिए कमर कस ली है. किसी को भी कानून तोड़ने की इजाजत नहीं दी जाएगी. एक सवाल के जवाब में उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर भी निगाह रखी जा रही है. यूपी पुलिस लगातार निगाह रख रही है. कई लोगों को हिरासत में भी लिया गया है.

वहीं, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट कर कहा कि अयोध्या पर कल सुप्रीम कोर्ट का निर्णय आ रहा है. पिछले कुछ महीनों से सुप्रीम कोर्ट में निरंतर इस विषय पर सुनवाई हो रही थी, पूरा देश उत्सुकता से देख रहा था. इस दौरान समाज के सभी वर्गों की तरफ से सद्भावना का वातावरण बनाए रखने के लिए किए गए प्रयास बहुत सराहनीय हैं.

पीएम ने कहा कि अयोध्या पर सुप्रीम कोर्ट का जो भी फैसला आएगा, वो किसी की हार-जीत नहीं होगा. देशवासियों से मेरी अपील है कि हम सबकी यह प्राथमिकता रहे कि ये फैसला भारत की शांति, एकता और सद्भावना की महान परंपरा को और बल दे.

पीएम मोदी ने एक अन्य ट्वीट में कहा कि देश की न्यायपालिका के मान-सम्मान को सर्वोपरि रखते हुए समाज के सभी पक्षों, सामाजिक-सांस्कृतिक संगठनों, सभी पक्षकारों ने बीते दिनों सौहार्दपूर्ण और सकारात्मक वातावरण बनाने के लिए जो प्रयास किए, वे स्वागत योग्य हैं. कोर्ट के निर्णय के बाद भी हम सबको मिलकर सौहार्द बनाए रखना है.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay