एडवांस्ड सर्च

पोंजी स्कीम घोटाला: TMC सांसद की 238 करोड़ की संपत्ति सीज

TMC MP KD Singh ईडी ने टीएमसी सांसद केडी सिंह के खिलाफ बड़ी कार्रवाई की है. पोंजी स्कीम घोटाले में कार्रवाई करते हुए ईडी ने उनकी 238 करोड़ की संपत्ति को सीज कर लिया है.

Advertisement
aajtak.in
मुनीष पांडे नई दिल्ली, 28 January 2019
पोंजी स्कीम घोटाला: TMC सांसद की 238 करोड़ की संपत्ति सीज TMC MP KD Singh (File Pic)

पोंजी स्कीम घोटाले में प्रवर्तन निदेशालय ने सोमवार को बड़ी कार्रवाई की है. ईडी ने इस मामले में फंसे तृणमूल कांग्रेस के सांसद केडी सिंह की करीब 238 करोड़ की संपत्ति की सीज कर लिया है. इसमें रिजॉर्ट, शोरूम और बैंक खाते भी शामिल हैं. केडी सिंह पर बीते काफी समय से ईडी नजर बनाए हुए था.

प्रवर्तन निदेशालय ने सोमनार को केडी सिंह के कुर्फी में रिजॉर्ट, चंडीगढ़ में शोरूम, पंचकूला में संपत्ति और बैंक खातों को जब्त किया.

बता दें कि केडी सिंह की कंपनी अल्केमिस्ट इन्फ्रा रियलटी लिमिटेड पर ईडी ने सितंबर 2016 में केस दर्ज किया था. ये मामला PMLA के तहत दर्ज किया गया था. केडी सिंह की कंपनी पर आरोप था कि इस कंपनी ने लोगों को करीब 1900 करोड़ रुपये का चूना लगाया था. सेबी की ओर से कंपनी, इसके डायरेक्टर और शेयर होल्डर्स पर मामला दर्ज किया गया था.

गौरतलब है कि इससे पहले भी तृणमूल कांग्रेस के कई नेताओं का नाम शारदा चिटफंड घोटाले में आया था. टीएमसी प्रमुख और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी कई बार केंद्र की नरेंद्र मोदी सरकार पर आरोप लगाती रही है कि सरकार जांच एजेंसियों का दुरुपयोग कर रही है. ममता ने कई बार आरोप लगाया है कि केंद्र सरकार एजेंसियों का दुरुपयोग कर विरोधियों को धमका रही है.

कौन हैं केडी सिंह?

आपको बता दें कि केडी सिंह टीएमसी में आने से पहले झारखंड मुक्ति मोर्चा के सदस्य थे. 2010 में राज्यसभा सांसद चुने जाने के बाद उन्होंने TMC का दामन थाम लिया था. टीएमसी में उन्हें पश्चिमी भारत के राज्यों की जिम्मेदारी मिली हुई है. इनमें पंजाब, हरियाणा, हिमाचल प्रदेश, जम्मू-कश्मीर और चंडीगढ़ की जिम्मेदारी अहम है. राज्यसभा सांसद होने के अलावा केडी सिंह भारतीय हॉकी फेडरेशन के प्रमुख भी हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay