एडवांस्ड सर्च

तंजानियन लड़की से बदसलूकी: विदेश मंत्रालय ने कहा- जांच के लिए बंगलुरु भेजी जाएगी टीम

विदेशी छात्रों की सुरक्षा के सवाल पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि बंगलुरु में करीब पांच हजार विदेशी छात्र रहते हैं.

Advertisement
aajtak.in
ब्रजेश मिश्र नई दिल्ली, 04 February 2016
तंजानियन लड़की से बदसलूकी: विदेश मंत्रालय ने कहा- जांच के लिए बंगलुरु भेजी जाएगी टीम

बंगलुरु में तंजानिया की लड़की से बदसलूकी के मामले की जांच के लिए विदेश मंत्रालय की ओर से एक टीम भेजी जाएगी. विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता विकास स्वरूप ने गुरुवार को प्रेस कॉन्फ्रेंस करके इस बात की जानकारी दी.

विदेश मंत्रालय ने कहा, 'बंगलुरु में जो कुछ घटा वह एक सड़क हादसे से जुड़ा है. यह एक दुखद घटना है जो नहीं होनी चाहिए थी. अगर उन्हें लगता है कि यह नस्लीय हमला है तो इसकी भी जांच कराई जा रही है.'

'सभी विदेशी छात्र हमारे मेहमान'
विदेशी छात्रों की सुरक्षा के सवाल पर विदेश मंत्रालय के प्रवक्ता ने कहा कि बंगलुरु में करीब पांच हजार विदेशी छात्र रहते हैं. सभी विदेशी छात्र हमारे मेहमान हैं और उनकी सुरक्षा हमारी जिम्मेदारी है. उन्होंने कहा, 'हम अफ्रीकी छात्रों को आश्वस्त कर देना चाहते हैं कि वे हमारे देश में सुरक्षित हैं.'

उन्होंने यह भी कहा कि देश में विदेशी छात्रों के आंकड़े जुटाए जा रहे हैं. कुछ छात्र सेल्फ फाइनेंस के जरिए आते हैं, इसलिए सही आंकड़ा उपलब्ध नहीं है.

सड़क हादसे के बाद हुआ था बवाल
बता दें कि बंगलुरु में रविवार को तंजानिया की छात्रा के साथ बदसलूकी की घटना सामने आई थी. घटना तब हुई जब कुछ लोग एक विदेशी छात्रा की कार के नीचे आने से एक महिला की मौत हो गई. नाराज लोगों ने पहले कार चला रहे एक विदेशी छात्र की पिटाई की और उसकी कार को आग लगा दी. इस दौरान उन्होंने वहां से गुजरने वाली तंजानिया की छात्रा से बदसलूकी की, उसके कपड़े फाड़ दिए और पिटाई की.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay