एडवांस्ड सर्च

कश्मीर हिंसा पर शिवसेना का वार, पूछा- महबूबा को घाटी की कमान बीजेपी की गलती तो नहीं?

सामना में लिखा गया है कि मौजूदा हालात देखकर लग रहा है कि कश्मीर का सवाल पहले की तुलना में और ज्यादा उलझ गया है. महबूबा मुफ्ती ऊपर-ऊपर से शांति का आह्वान कर रही है, फिर भी बुरहान वानी के बारे में उनकी निश्चित भूमिका क्या है, यह जानना जरूरी है.

Advertisement
aajtak.in
प्रियंका झा/ विरेंद्रसिंह घुनावत मुंबई, 12 July 2016
कश्मीर हिंसा पर शिवसेना का वार, पूछा- महबूबा को घाटी की कमान बीजेपी की गलती तो नहीं?

कश्मीर में हिजबुल मुजाहिदीन के आतंकी बुरहान वानी के मारे जाने के बाद पैदा हुए तनाव पर शिवसेना ने बीजेपी पर निशाना साधा है. शिवसेना ने अपने मुखपत्र 'सामना' में लिखा है कि 'कश्मीर की वर्तमान स्थिति राष्ट्रीय सुरक्षा के लिए धोखादायक है, क्या महबूबा मुफ्ती के हाथों में कश्मीर घाटी की कमान देकर बीजेपी ने गलती तो नहीं की?'

सामना में लिखा गया है कि मौजूदा हालात देखकर लग रहा है कि कश्मीर का सवाल पहले की तुलना में और ज्यादा उलझ गया है. महबूबा मुफ्ती ऊपर-ऊपर से शांति का आह्वान कर रही है, फिर भी बुरहान वानी के बारे में उनकी निश्चित भूमिका क्या है, यह जानना जरूरी है.

महबूबा के रुख को लेकर बीजेपी पर भी वार
शिवसेना ने बीजेपी पर भी वार किया और कहा कि कहीं बीजेपी ने महबूबा के हाथ कश्मीर घाटी की कमान देकर गलती तो नहीं कर दी, ऐसा डर लगता है. सामना में लिखा गया है कि इसके पहले अफजल गुरु को कश्मीर का स्वतंत्रता सेनानी या क्रांतिकारी मानने की वकालत भी महबूबा ने की थी. उनके इस इतिहास को देखते हुए यह डर बना हुआ है.

कश्मीर में लगी आग की आंच देश को लग रही
सामना में लिखा गया है कि कश्मीर में जो आग लगी है, इसकी आंच देश को लग रही है. इधर अयोध्या में राम मंदिर निर्माण करवाने की घोषणा हुई. उसके पहले कश्मीर की अमरनाथ यात्रा शांति से संपन्न हो जाए. जो चल रहा है वह भयंकर है. गृहमंत्री को तत्काल पीएम को सारी जानकारी देनी चाहिए.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay