एडवांस्ड सर्च

शत्रुघ्न सिन्हा ने इंदिरा से की प्रियंका गांधी की तुलना, कहा- अध्यक्ष बन संभालें कमान

शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट कर लिखा कि प्रियंका ने इससे उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की याद दिला दी. इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि अब उन्हें पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल लेनी चाहिए.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in नई दिल्ली, 22 July 2019
शत्रुघ्न सिन्हा ने इंदिरा से की प्रियंका गांधी की तुलना, कहा- अध्यक्ष बन संभालें कमान शत्रुघ्न सिन्हा

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में हुए हत्याकांड पर योगी सरकार के खिलाफ हल्ला बोल किया. उन्हें सोनभद्र नहीं जाने दिया गया, जिसके खिलाफ प्रियंका ने धरना दिया. प्रियंका के इस एक्शन की कांग्रेस नेता शत्रुघ्न सिन्हा ने जमकर तारीफ की है. शत्रुघ्न सिन्हा ने ट्वीट कर लिखा कि प्रियंका ने इससे उन्हें पूर्व प्रधानमंत्री इंदिरा गांधी की याद दिला दी. इसके साथ ही उन्होंने लिखा कि अब उन्हें पार्टी अध्यक्ष की जिम्मेदारी संभाल लेनी चाहिए.

सोमवार सुबह शत्रुघ्न सिन्हा ने प्रियंका गांधी को लेकर लगातार ट्वीट किए. उन्होंने लिखा कि सोनभद्र में जो कुछ हुआ उसको लेकर प्रियंका गांधी जिस तरह एक्शन में आई उससे इंदिरा गांधी की याद आ गई. बेलची मामले के दौरान जिस तरह इंदिरा गांधी हाथी पर सवार होकर पहुंची थी, ये कुछ वैसा ही था. प्रियंका गांधी पूरे जोश के साथ वहां पर पहुंचीं और उन्होंने गिरफ्तारी को भी हंसकर स्वीकार किया.

पूर्व सांसद ने लिखा कि प्रियंका ने इस घड़ी में काफी शानदार तरीके से काम किया. मैं उनसे अपील करना चाहता हूं कि पार्टी की प्रमुख बनकर हमारा नेतृत्व करेंगी. अगर ऐसा होता है तो ये कांग्रेस पार्टी के मनोबल के लिए काफी अच्छा होगा. वह एक रोल मॉडल हैं साथ ही साथ एक शानदार नेता हैं. दूसरी पार्टियों को भी उनसे सीखना चाहिए और उन्हें फॉलो करना चाहिए.

गौरतलब है कि उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में एक जमीनी विवाद के बाद 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी. जिसके बाद कांग्रेस पार्टी ने इस मुद्दे पर राज्य की योगी आदित्यनाथ सरकार के खिलाफ प्रदर्शन किया था. इस प्रदर्शन की अगुवाई प्रियंका गांधी ने की थी, वह पीड़ित परिवार से मिलने सोनभद्र जा रही थीं. लेकिन उन्हें रास्ते में रोक लिया गया था, जिसके खिलाफ प्रियंका ने धरना दिया, उन्हें जबरन हिरासत में लेकर एक किले में ले जाया गया. अंतत: भारी विरोध के बाद पीड़ित परिवार के सदस्य उनसे मिलने चुनार किले ही पहुंचे.

कांग्रेस इस मसले पर हमलावर ही रही. हालांकि, इस बीच शत्रुघ्न सिन्हा ने अपने ट्वीट में एक बार फिर अध्यक्ष पद का मसला उठा दिया है. लेकिन राहुल गांधी ने जब पार्टी अध्यक्ष पद छोड़ा था तो उन्होंने एक शर्त रखी थी कि गांधी परिवार का कोई सदस्य अब पार्टी का मुखिया नहीं बनेगा.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay