एडवांस्ड सर्च

'हिंदू पाकिस्तान' के बाद थरूर का 'हिंदू तालिबान', अश्विनी चौबे बोले- जाएं पाकिस्तान

थरूर का कहना है कि उन्होंने कोई बयान गलत नहीं दिया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी वाले कौन हैं जो मुझे इस देश से भगाएंगे. मैं भी इस देश का नागरिक हूं और एक जनप्रतिनिधि होने के नाते मुझे पूरा हक है अपनी राय रखने का.

Advertisement
aajtak.in
अशोक सिंघल नई दिल्ली, 18 July 2018
'हिंदू पाकिस्तान' के बाद थरूर का 'हिंदू तालिबान', अश्विनी चौबे बोले- जाएं पाकिस्तान कांग्रेस नेता शशि थरूर

कांग्रेस नेता शशि थरूर फिर से बीजेपी के निशाने पर आ गए हैं. पहले उन्होंने मोदी सरकार के 2019 में जीतने पर भारत के हिंदू पाकिस्तान बनने की बात कही तो अब उनका कहना है कि बीजेपी हिंदुत्व का तालिबानीकरण करना चाहती है. बीजेपी लगातार इन बयानों के लिए थरूर, कांग्रेस और राहुल गांधी को घेर रही है लेकिन खुद थरूर इससे बेपरवाह हैं.

थरूर का कहना है कि उन्होंने कोई बयान गलत नहीं दिया है. उन्होंने कहा कि बीजेपी वाले कौन हैं जो मुझे इस देश से भगाएंगे. मैं भी इस देश का नागरिक हूं और एक जनप्रतिनिधि होने के नाते मुझे पूरा हक है अपनी राय रखने का. हम नहीं चाहते कि यह देश पाकिस्तान जैसा देश बने. ये हिंदुत्व के लोग हमारे देश को हिंदू राष्ट्र बनाना चाहते हैं.

शशि थरूर ने कहा कि ये लोग हमारे देश के स्वतंत्रता संघर्ष को खराब कर रहे हैं. पाकिस्तान के लोगों की सोच मजहब के नाम पर देश बनाने की है, लेकिन हम कभी ऐसा नहीं सोच सकते. स्वतंत्रता आंदोलन में शामिल लोगों ने भी यही सोचा था कि यह देश सबके लिए होगा. हिंदू समुदाय के लोग भी यही कहेंगे कि हम चाहते हैं कि देश में सभी लोग एक साथ रहें. तो फिर बीजेपी के लोग कौन होते हैं यह बात कहने वाले कि अलग राय रखने वाला शख्स इस हिंदुस्तान में नहीं रह सकता.

शशि थरूर का कहना है कि तालिबानी सोच कहती है कि जो उनका विचार नहीं मानते, उनको मारना चाहिए. इस देश में एक राय नहीं बल्कि सभी राय साथ चलनी चाहिए. 1947 में जब पाकिस्तान बना, वह एक मजहब के लोगों के लिए बना. उस वक्त भारतीय नेताओं ने कभी नहीं कहा कि भारत एक मजहब का हो.

थरूर ने कहा कि हम चाहते हैं कि सभी मजहब के लोग इस देश में रहें, सभी भारतवासियों को एक ही हक मिले और सबको जीने के एक ही अधिकार प्राप्त हों. मैं वही बात कर रहा हूं जो संविधान में लिखी है. प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी संविधान को पवित्र किताब कहते हैं तो वो कहें कि हम हिंदू राष्ट्र नहीं बनाएंगे. हमारा संविधान ही देश में सर्वोपरि है और वही चलना चाहिए.

थरूर ने कहा कि भारत सबके लिए है. सभी धर्मों के लिए है, सभी जातियों और सभी समुदायों के लिए है. किसी एक व्यक्ति विशेष के लिए हिंदुस्तान नहीं है. जिस प्रकार से पाकिस्तान मुस्लिम देश बना उसी तरह ये इस देश को हिंदू पाकिस्तान बनाना चाहते हैं. लेकिन मैं इस देश को पाकिस्तान नहीं बनने देना चाहता.

शशि थरूर ने कहा कि बीजेपी के लोगों की 'हिंदू राष्ट्र' बनाने की बातें बहुत ही खतरनाक हैं. ये सोच देश को नष्ट कर देगी. बता दें कि केरल में पिछले हफ्ते पार्टी के एक समारोह में बोलते हुए थरूर ने कहा था कि अगर 2019 के चुनाव में बीजेपी फिर जीती तो संविधान खतरे में पड़ जाएगा. बीजेपी अपने 'हिंदू राष्ट्र' सिद्धांत के तत्वों को समाहित करने के लिए सबकुछ करेगी. ऐसा करने से भारत 'हिंदू पाकिस्तान' बन जाएगा.

इससे पहले शशि थरूर के हिंदुत्व को लेकर दिए बयान पर केंद्रीय मंत्री अश्विनी चौबे ने उन्हें पाकिस्तान जाने की नसीहत दे डाली और कहा कि वह खुद तालिबानी है. चौबे ने कहा कि थरूर को बताना चाहिए कि क्या वह तालिबानी हैं. अगर इस देश में रहना है तो हिंदुत्व को गाली नहीं दी जा सकती, देश को गाली नहीं दी जा सकती.

अश्वनी चौबे ने कहा कि देश में रहकर कोई हिंदुत्व को गाली देता है, तो उसे पाकिस्तान चले जाना चाहिए. ऐसे लोगों के लिए इस देश में कोई जगह नहीं है. चौबे का कहना है कि सुप्रीम कोर्ट ने भी कहा है कि हिंदुत्व वे ऑफ लाइफ है. इसीलिए शशि थरूर का बयान ठीक नहीं है.

अश्वनी चौबे ने शशि थरूर के साथ-साथ कांग्रेस अध्यक्ष राहुल गांधी पर भी विवादित बयान दिया. उन्होंने कहा कि उनकी पार्टी के जो मुखिया बबुआ है वह भी कांग्रेस को बर्बाद करने में लगे हैं. देश को कांग्रेस मुक्त करने के प्रयास में लगे हैं.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay