एडवांस्ड सर्च

'सीधी बात' में नितिन गडकरी ने माना- BJP नेता भी कर देते हैं उल्टी-सीधी बातें

केंद्रीय राजमार्ग और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने नेताओं के बड़बोले बयानों पर माना कि उनकी पार्टी में से कुछ लोग उल्टी-सीधी बातें कर देते हैं और मीडिया उसे उठा लेता है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग उल्टी-सीधी बात करने में मशहूर होते हैं.

Advertisement
श्वेता सिंह [Edited By: राम कृष्ण]नई दिल्ली, 29 April 2018
'सीधी बात' में नितिन गडकरी ने माना- BJP नेता भी कर देते हैं उल्टी-सीधी बातें केंद्रीय मंत्री नितिन गडकरी

केंद्रीय राजमार्ग और सड़क परिवहन मंत्री नितिन गडकरी ने आजतक के खास कार्यक्रम 'सीधी बात' में शिरकत की और कई मुद्दों पर अपनी बेबाक राय रखी. श्वेता सिंह के सवालों के जवाब देते हुए उन्होंने जहां एक ओर शिवसेना से गठबंधन जारी रहने का भरोसा जताया, दूसरी ओर यह भी कहा कि बाबा साहेब अंबेडकर के संविधान को बीजेपी सरकार कभी नहीं बदलेगी.

नेताओं के बड़बोले बयानों को लेकर केंद्रीय मंत्री गडकरी ने माना कि उनकी पार्टी में से कुछ लोग उल्टी-सीधी बातें कर देते हैं और मीडिया उसे उठा लेता है. उन्होंने कहा कि कुछ लोग उल्टी-सीधी बात करने में मशहूर होते हैं. दरअसल, हाल ही में कई मुद्दों पर बीजेपी नेताओं के विवादित बयान सामने आ चुके हैं. इसके चलते कई दफा पार्टी को मुश्किलों का सामना करना पड़ चुका है. मालूम हो कि गडकरी के पास जहाजरानी, जल संसाधन, नदी विकास और गंगा संरक्षण विभागों की भी जिम्मेदारी है.

गडकरी से जब पूछा गया कि उनकी सड़कों की रफ्तार तो तेज है, लेकिन सरकार की गाड़ी की रफ्तार क्यों कम है, तो उन्होंने कहा कि साल 2014 से पहले 10 साल के कांग्रेस के कार्यकाल के काम और पिछले चार साल के मोदी सरकार के कामकाज की तुलना करेंगे, तो पता चल जाएगा कि मोदी सरकार की गाड़ी तेज रफ्तार से चल रही है. उन्होंने कहा कि बीते चार साल में मोदी सरकार ने विकास समेत हर मोर्चे पर बेहतर काम किया.

‘आजतक’ के फ्लैगशिप शो ‘सीधी बात’ में गडकरी ने आंकड़े गिनाते हुए दावा किया कि एनडीए सरकार में सिर्फ विकास ही नहीं, बल्कि रोजगार के क्षेत्र में भी अच्छा काम हुआ है. गडकरी के मुताबिक पिछले चार साल में डेढ़ से लेकर पौने दो करोड़ रोजगार का सृजन हुआ.

रोजगार के मुद्दे पर जब गडकरी को याद दिलाया गया कि उनकी पार्टी ने एक करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, उस पर कहां तक पहुंचा गया, तो उन्होंने कहा, ‘‘मेरे डिपार्टमेंट में 10 लाख करोड़ (रुपये) का काम हुआ है. हजार करोड़ के काम में एक लाख लोगों को डायरेक्ट, इनडायरेक्ट रोजगार मिलता है. मैं किताब तैयार करूंगा कि हमारे अलग-अलग डिपार्टमेंट ने कितना रोजगार दिया है. चार साल के कार्यकाल में डेढ़ से पौने दो करोड़ का रोजगार पैदा हुआ है.’’

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay