एडवांस्ड सर्च

रॉबर्ट वाड्रा को राहत, मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट से मिली जमानत

मनी लॉन्ड्रिंग के केस में रॉबर्ट वाड्रा के सहयोगी माने जाने वाले मनोज अरोड़ा को भी पटियाला हाउस कोर्ट ने जमानत दे दी है. जिन शर्तों पर रॉबर्ट वाड्रा को जमानत मिली है, उन्हीं शर्तों का पालन मनोज अरोड़ा को भी करना होगा.

Advertisement
aajtak.in
aajtak.in/ पूनम शर्मा नई दिल्ली, 01 April 2019
रॉबर्ट वाड्रा को राहत, मनी लॉन्ड्रिंग केस में कोर्ट से मिली जमानत मनी लॉन्ड्रिंग केस में फंसे रॉबर्ट वाड्रा (फोटो-इंडिया टुडे आर्काइव)

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति और गांधी परिवार के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. पटियाला हाउस कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा की अग्रिम जमानत याचिका को मंजूर करते हुए जमानत दे दी है. हालांकि कोर्ट की तरफ से मिली ये जमानत कुछ शर्तों के साथ है. कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को निर्देश दिया है कि वो इस मामले से जुड़े सबूतों से छेड़छाड़ नहीं करेंगे. इसके अलावा जब भी ईडी बुलाएगी, रॉबर्ट वाड्रा को जांच में सहयोग करने के लिए जांच एजेंसी के पास जाना होगा.

रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट ने 5 लाख की श्योरिटी पर जमानत दी है. मनी लॉन्ड्रिंग के इस केस में रॉबर्ट वाड्रा के सहयोगी माने जाने वाले मनोज अरोड़ा को भी पटियाला हाउस कोर्ट ने जमानत दे दी है. जिन शर्तों पर रॉबर्ट वाड्रा को जमानत मिली है, उन्हीं शर्तों का पालन मनोज अरोड़ा को भी करना होगा. कोर्ट से वाड्रा को मिली जमानत पर उनकी तरफ से पेश हुए वकील अभिषेक मनु सिंघवी और केटीएस तुलसी ने मीडिया से बात करते हुए इसे न्याय की जीत बताया है.

जांच एजेंसी अब तक रॉबर्ट वाड्रा से मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में आधा दर्जन से ज्यादा बार बुलाकर पूछताछ कर चुकी है. एजेंसी कोर्ट में यह दावा कर रही है कि उसके पास मनी लॉन्ड्रिंग के केस में वाड्रा को आरोपी साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत है. हालांकि कोर्ट में ईडी की तरफ से अग्रिम जमानत अर्जी का कोर्ट की सुनवाई के दौरान विरोध किया गया था. आज के इस आदेश से पहले भी कोर्ट ने गिरफ्तारी से रोक लगाई हुई थी. रॉबर्ट वाड्रा की लंदन की संपत्ति को लेकर ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया हुआ है.

ईडी की तरफ से रॉबर्ट वाड्रा पर मनी लॉन्ड्रिंग के इस केस के दर्ज होने के बाद ईडी की तरफ से रॉबर्ट वाड्रा पर मनी लॉन्ड्रिंग के केस के दर्ज होने के बाद बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही इस मामले पर आमने-सामने है. कांग्रेस बीजेपी पर आरोप लगाते आ रही है कि यह राजनीतिक द्वेष से दर्ज किया गया मामला है. जबकि बीजेपी का आरोप है रॉबर्ट वाड्रा ने गलत तरीके से संपत्तियां अर्जित की और जांच एजेंसी को इससे जुड़े सबूत मिलने के बाद ही केस दर्ज किया गया.

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी के पति और गांधी परिवार के दामाद रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट से बड़ी राहत मिली है. पटियाला हाउस कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा की अग्रिम जमानत याचिका को मंजूर करते हुए जमानत दे दी है. हालांकि कोर्ट की तरफ से मिली ये जमानत कुछ शर्तों के साथ है. कोर्ट ने रॉबर्ट वाड्रा को निर्देश दिया है कि वो इस मामले से जुड़े सबूतों से छेड़छाड़ नहीं करेंगे. इसके अलावा जब भी ईडी बुलाएगी, रॉबर्ट वाड्रा को जांच में सहयोग करने के लिए जांच एजेंसी के पास जाना होगा.

रॉबर्ट वाड्रा को कोर्ट ने 5 लाख की श्योरिटी पर जमानत दी है. मनी लॉन्ड्रिंग के इस केस में रॉबर्ट वाड्रा के सहयोगी माने जाने वाले मनोज अरोड़ा को भी पटियाला हाउस कोर्ट ने जमानत दे दी है. जिन शर्तों पर रॉबर्ट वाड्रा को जमानत मिली है, उन्हीं शर्तों का पालन मनोज अरोड़ा को भी करना होगा. कोर्ट से वाड्रा को मिली जमानत पर उनकी तरफ से पेश हुए वकील अभिषेक मनु सिंघवी और केटीएस तुलसी ने मीडिया से बात करते हुए इसे न्याय की जीत बताया है.

जांच एजेंसी अब तक रॉबर्ट वाड्रा से मनी लॉन्ड्रिंग से जुड़े मामले में आधा दर्जन से ज्यादा बार बुलाकर पूछताछ कर चुकी है. एजेंसी कोर्ट में यह दावा कर रही है कि उसके पास मनी लॉन्ड्रिंग के केस में वाड्रा को आरोपी साबित करने के लिए पर्याप्त सबूत है. हालांकि कोर्ट में ईडी की तरफ से अग्रिम जमानत अर्जी का कोर्ट की सुनवाई के दौरान विरोध किया गया था. आज के इस आदेश से पहले भी कोर्ट ने गिरफ्तारी से रोक लगाई हुई थी. रॉबर्ट वाड्रा की लंदन की संपत्ति को लेकर ईडी ने मनी लॉन्ड्रिंग का केस दर्ज किया हुआ है.

ईडी की तरफ से रॉबर्ट वाड्रा पर मनी लॉन्ड्रिंग के इस केस के दर्ज होने के बाद ईडी की तरफ से रॉबर्ट वाड्रा पर मनी लॉन्ड्रिंग के केस के दर्ज होने के बाद बीजेपी और कांग्रेस दोनों ही इस मामले पर आमने-सामने है. कांग्रेस बीजेपी पर आरोप लगाते आ रही है कि यह राजनीतिक द्वेष से दर्ज किया गया मामला है. जबकि बीजेपी का आरोप है रॉबर्ट वाड्रा ने गलत तरीके से संपत्तियां अर्जित की और जांच एजेंसी को इससे जुड़े सबूत मिलने के बाद ही केस दर्ज किया गया.

आजतक के नए ऐप से अपने फोन पर पाएं रियल टाइम अलर्ट और सभी खबरें. डाउनलोड करें
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay