एडवांस्ड सर्च

Advertisement

पचौरी पर यौन शोषण के मामले में तय होंगे आरोप, कोर्ट का आदेश

टेरी के पूर्व प्रमुख आरके पचौरी पर यौन शोषण के मामले में दिल्ली की कोर्ट ने आरोप तय करने का आदेश दिया है. पचौरी पर 2015 में एक महिला ने यौन शोषण की शिकायत दर्ज कराई थी.
पचौरी पर यौन शोषण के मामले में तय होंगे आरोप, कोर्ट का आदेश आरके पचौरी
aajtak.in [Edited By: राहुल विश्वकर्मा]नई दिल्ली, 14 September 2018

टेरी (द एनर्जी एंड रिसोर्सेज इंस्टीट्यूट) के पूर्व प्रमुख आरके पचौरी की मुश्किलें बढ़ सकती हैं. दिल्ली की एक अदालत ने शुक्रवार को पूर्व सहयोगी द्वारा पर्यावरणविद आरके पचौरी के खिलाफ दर्ज कराये गये यौन शोषण के मामले में आरोप तय करने का आदेश दिया है.

मेट्रोपोलिटन मजिस्ट्रेट चारू गुप्ता ने भारतीय दंड संहिता की धारा 354 (शीलभंग करने), धारा 354 ए (गलत तरीके से छूना और अश्लील टिप्पणी करने) और धारा 509 (अश्लील संकेत करने) के तहत आरोप तय करने के आदेश दिये हैं.

हालांकि, अदालत ने अन्य धाराओं से आरोप मुक्त कर दिया और कहा कि 20 अक्टूबर को औपचारिक तौर पर आरोप तय किए जायेंगे. पचौरी के खिलाफ 13 फरवरी 2015 को प्राथमिकी दर्ज की गयी थी और 21 मार्च को मामले में उन्हें अग्रिम जमानत दे दी गयी थी.

2015 में महिला ने दर्ज करवाई शिकायत

महिला कर्मचारी ने 13 फरवरी 2015 को पुलिस के पास शिकायत दर्ज कराई थी. हालांकि पचौरी को तब दिल्ली हाईकोर्ट से राहत मिली थी. हाईकोर्ट ने टेरी की पूर्व महिला कर्मचारी की उस याचिका को खारिज कर दिया था, जिसमें उसने इंडस्टि्रयल ट्रिब्यूनल के समक्ष चल रही कार्रवाई पर रोक लगाने का आग्रह किया था.

ट्रिब्यूनल में आरके पचौरी ने अपील की थी कि टेरी की आंतरिक शिकायत कमिटी ने उसे अपना पक्ष रखने का मौका दिए बगैर दोषी ठहरा दिया.

पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay