एडवांस्ड सर्च

Advertisement

बंगालः पंचायत चुनाव में री-पोलिंग, हिंसा में 12 की मौत, 3 घायल

मुर्शिदाबाद में हुई हिंसा में तृणमूल कांग्रेस के 2 कार्यकर्ता घायल हो गए हैं, यहां हमलावरों के साथ हथियारों ने हमला किया था, जबकि मालदा के बूथ नंबर 76 पर रिपोलिंग में अज्ञात हमलावर हथियार दिखाकर बैलट बॉक्स ही उठा ले गए.
बंगालः पंचायत चुनाव में री-पोलिंग, हिंसा में 12 की मौत, 3 घायल बंगाल पंचायत चुनाव में 568 बूथों पर बुधवार को दोबारा वोटिंग
aajtak.in [Edited by: नंदलाल शर्मा]कोलकाता, 16 May 2018

पश्चिम बंगाल पंचायत चुनाव में हो रही दोबारा वोटिंग के दौरान भी हिंसा की खबरें आ रही हैं. अब तक हुई हिंसा में 12 लोगों की मौत हो गई है, जबकि तीन पुलिस वाले भी घायल हो गए हैं.

मुर्शिदाबाद में हुई हिंसा में तृणमूल कांग्रेस के 2 कार्यकर्ता घायल हो गए हैं, यहां हमलावरों के साथ हथियारों ने हमला किया था, जबकि मालदा के बूथ नंबर 76 पर रिपोलिंग में अज्ञात हमलावर हथियार दिखाकर बैलट बॉक्स ही उठा ले गए.

उधर, दिल्ली में पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा के विरोध में सीपीएम प्रदर्शन कर रही है.

बता दें कि समूचे पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के दौरान राज्य निर्वाचन आयोग (SEC) को जिन 568 मतदान केन्द्रों पर हिंसा की शिकायतें मिली थीं, वहां आज कड़ी सुरक्षा व्यवस्था के बीच फिर से मतदान कराये जा रहे हैं.

राज्य निर्वाचन आयोग ने बताया कि जिन मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान हो रहे हैं वे राज्य के सभी 20 जिलों में स्थित हैं. राज्य में सोमवार को पंचायत चुनाव हुए थे.

उन्होंने बताया कि राज्य सरकार और पुलिस को व्यापक सुरक्षा इंतजाम करने के लिये कहा गया है, ताकि पुनर्मतदान मुक्त और निष्पक्ष तरीके से हो. आयोग के अधिकारियों ने बताया, ‘‘पुनर्मतदान सुबह सात बजे शुरू हुआ और यह शाम पांच बजे खत्म हो जायेगा. मतगणना कल (17 मई) होगी.’’

उन्होंने बताया कि हुगली में 10 मतदान केन्द्रों, पश्चिम मिदनापुर में 28 मतदान केन्द्रों, कूचबिहार में 52 मतदान केन्द्रों, मुर्शिदाबाद में 63 मतदान केन्द्रों, नादिया में 60 मतदान केन्द्रों, उत्तर 24 परगना में 59 मतदान केन्द्रों, मालदा में 55 मतदान केन्द्रों, उत्तर दिनाजपुर में 73 मतदान केन्द्रों और दक्षिण 24 परगना में 26 मतदान केन्द्रों पर पुनर्मतदान के आदेश दिये गये हैं.

पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा से नाराज कई उम्मीदवारों ने आयोग के अधिकारियों से मुलाकात कर पुनर्मतदान की मांग की थी. इस हिंसा में कम से कम 12 लोगों की मौत हो गयी थी और 43 लोग घायल हो गये थे.

विपक्षी दलों ने तृणमूल के आतंक का राज उजागर होने का आरोप लगाया. हालांकि तृणमूल ने इन आरोपों को ‘‘निराधार’’ बताया.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने मंगलवार को बीजेपी कार्यकर्ताओं को संबोधित करते हुए पश्चिम बंगाल में पंचायत चुनाव के दौरान हुई हिंसा पर गहरी चिंता जताई. उन्होंने कहा कि ये बहुत चिंता की बात है, जोकि लोकतंत्र की मूल भावना के ही खिलाफ है.

तृणमूल कांग्रेस के नेता पार्था चटर्जी ने प्रधानमंत्री पर पलटवार करते हुए कहा कि हत्या और हिंसा की घटनाओं को स्वयं बीजेपी ने ही अंजाम दिया है.

चटर्जी ने कहा कि 'वे कर्नाटक में जीत न मिलने की वजह से हतोत्साहित हैं. बिना किसी जानकारी के प्रधानमंत्री को ऐसी टिप्पणी करना शोभा नहीं देता है. उन्हें पता होना चाहिए कि बीजेपी के गुंडों ने तृणमूल कांग्रेस के दस कार्यकर्ताओं को पंचायत चुनाव हिंसा में मार डाला है. बीजेपी का कोई कार्यकर्ता नहीं मारा गया है.'

पाएं आजतक की ताज़ा खबरें! news लिखकर 52424 पर SMS करें. एयरटेल, वोडाफ़ोन और आइडिया यूज़र्स. शर्तें लागू
Advertisement
Advertisement

संबंधित खबरें

Advertisement

रिलेटेड स्टोरी

No internet connection

Okay